आगरा, जागरण संवाददाता। नए साल की शुरुआत में रोडवेज के बेड़े में करीब 10 बसें शामिल हो जाएंगी। साल 2020 में कुल 45 बसें आगरा रीजन को मिल जाएंगी। वीएस-4 इंजन की 300 बसों के चेस परिवहन निगम ने खरीदकर कानपुर स्थित डा. राममनोहर लोहिया एवं केंद्रीय कार्यशाला में बॉडी बनवाने के लिए भेज दिए हैं।

आगरा रीजन में रोडवेज बसों की कमी जल्द दूर हो जाएगी। जनवरी की शुरुआत में ही रीजन को वीएस-4 वर्जन की 10 बसें मिल जाएंगी। साथ ही साल के अंत तक बेड़े में 35 बसें और शामिल हो जाएंगी। आगरा परिक्षेत्र के सेवा प्रबंधक एसपी सिंह ने बताया कि जनवरी से बसों के आने का क्रम जारी हो जाएगा जो कि चलता रहेगा। सभी बसें वीएस-4 इंजन की हैं। इनसे प्रदूषण कम होगा। पूरे प्रदेश में रोडवेज के 20 रीजन हैं। इसी हिसाब से निगम ने टाटा मोटर्स से 300 बसों के चेस खरीदे हैं। अब इन बसों में अपने हिसाब से बॉडी बनवाने के लिए कानपुर स्थित डॉ. राम मनोहर लोहिया तथा केंद्रीय कार्यशाला भेज दिया है।

583 बसें हैं बेड़े में

वर्तमान में आगरा रीजन में छह डिपो में 583 बसें हैं। इसमें 492 निगम की तथा 93 अनुबंधित हैं।

एक अप्रैल से नहीं होंगे बीएस-4 वाहनों के रजिस्ट्रेशन

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत एक अप्रेल 2020 से बीएस-4 इंजन वाले वाहनों की बिक्री पर प्रतिबंध लग जाएगा। इसको लेकर ऑटोमोबाइल सेक्टर काफी परेशान है। संभवत: इसी लिए परिवहन निगम ने सुप्रीम कोर्ट के प्रतिबंध वाले आदेश से पहले ही 300 बसों की खरीदारी कर ली है।  

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस