आगरा, जागरण संवाददाता। शहर में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के नाम पर 2.82 करोड़ रुपये के घोटाले में अारोपित कंपनियों के भ्रष्टाचार की पुलिस कुंडली खंगाल रही है। कूड़़ा घोटाले में फंसी तीन कंपनी के कार्यालय झांसी में बताए गए हैं। पुलिस इन कंपनियों के कार्यालय की कुंडली खंगाल रही है। तीनों फर्म के कार्यालय झांसी में कब से स्थापित हैं। वहां उन्होंने कौन-कौन से काम किए। तीनाें फर्म में कितने कर्मचारी हैं, वहां कब से काम कर रहे हैं। भ्रष्टाचार की जांच में जुटी पुलिस इन कंपनियों का कच्चा चिट़्ठा तैयार कर रही हैं। पुलिस ने कंपनियों के अधिकारियों को अपना बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस दिया था । इसका अभी तक आरोपित कंपनियों ने जवाब नहीं दिया है ।

आगरा में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन करने के लिए चार फर्म को ठेका दिया गया था। सितंबर 2019 में नगर निगम की बैठक के दौरान पार्षदों ने घर-घर जाकर कूड़ा उठाने वाली चारों फर्म द्वारा मई और जून 2019 में प्रस्तुत किए आंकड़ों की जांच कराने की मांग की थी। इस पर नगर निगम ने तीन सदस्यीय कमेटी बनाकर चारों फर्म द्वारा किए गए कार्य की जांच कराई। इसमें घोटाले के साक्ष्य मिलने पर फर्मों को लोगों से वसूली धनराशि नगर निगम के कोष में जमा कराने के लिए नोटिस दिया गया। रकम जमा नहीं कराने पर नगर निगम के पर्यावरण अभियंता राजीव कुमार राठी ने हरीपर्वत थाने मे चार फर्मों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था।

इन फर्म के खिलाफ दर्ज है मुकदमा

-मैसर्स एस.आर.एम.टी वेस्ट मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड ईएच-21 दीनदयाल नगर ग्वालियर

-अोम मोटर्स 591 खाती बाबा झांसी

-मैसर्स अरवा एसोसिएट बंगलो नंबर 55 कैंट सदर बाजार झांसी

-मैसर्स सोसायटी फार एजुकेशन एंड वेलफेयर फार ऑल, प्रेमगंज सीपरी बाजार झांसी

ये है घोटाला

-फर्म ओम मोटर्स पर हरीपर्वत जोन में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का काम था। उसने मई 2019 में 103560 घरों से कूड़ा उठाना दिखाया। जांच में सिर्फ 8803 घरों से कूडा उठाना पाया गया। जून में 103560 घरों से कूड़ा उठाना दिखाया, सत्यापन में 7891 घरों से ही कूड़ा उठा था।

-मैसर्स सोसायटी फार एजुकेशन एंड वेलफेयर फार ऑल के पास लोहामंडी जोन के शाहगंज क्षेत्र का ठेका था। फर्म ने मई 2019 में 45751 घरों से कूड़ा उठाना दिखाया। सत्यापन में 5539 घरों से ही कूड़ा कलेक्शन पाया गया। जून 2019 में 58513 घरो की जगह सिर्फ 521 घरों से ही कूड़ा उठाया था।

-मैसर्स अरवा एसोसिएट पर ताजगंज जोन में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का ठेका था। फर्म ने मई 2019 में 52939 घरों से कूड़ा उठाना दिखाया। जबकि उसने 10831 घरों से ही कूडा उठाया था। जून 2019 में 66549 घरों से कूड़ा उठाना दिखाया। जबकि 5184 से ही कूड़ा उठा था।

-मैसर्स एस.आर.एम.टी वेस्ट मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड को ताजगंज जोन में कूड़ा कलेक्शन ठेका था । फर्म द्वारा मई आैर जून 2019 में हाउस होल्ड की सूची नगर निगम को नहीं दी गयी। इस पर निगम ने फर्म द्वारा प्रस्तुत बिलों को शून्य मानते हुए उसके द्वारा यूजर चार्ज की कटौती की मई से सितंबर तक की किस्तें वसूलने का नोटिस दिया।

पुलिस ने नगर निगम से मांगी है यह जानकारी

-डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन,नगर निगम द्वारा कुल कितने जोन मे बांटा गया था।

-डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में काम को सत्यापित करने वाले जोन सुपर वाइजर और सफाई नायकों की जोनवार सूची मय नाम-पते के।

-डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के प्रत्येक जोन में लगे कुल वाहनों की सूची उनके रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ।

कूड़ा घोटाले में आरोपित चारों फर्म की पृष्ठभूमि की विस्तृत विवेचना की जा रही है। घोटाले से संबंधित साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। नगर निगम से भी कुछ बिंदुओं पर जानकारी मांगी है।

सौरभ दीक्षित, सीओ हरीपर्वत

 

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट