आगरा, जागरण टीम। दुनिया के सात अजूबों में शामिल सफेद संगमरमर की ऐतिहासिक स्मारक को देखने की चाहत सैलानियों को देश ही नहीं बल्कि विदेश से भी खींचकर आगरा ले आती है। खूबसूरत स्मारक देखने के लिए यदि आप शुक्रवार को आगरा में आ गए हैं तो आपको यहां प्रवेश नहीं मिलेगा। लेकिन आप इसकी खूबसूरती को कुछ अन्य जगहों से निहार सकते हैं। आपको बताते हैं कि ये कौन-कौन सी जगहें हैं।

मेहताब बाग

ताजमहल के ठीक पार्श्व में मेहताब बाग यमुना पार में स्थित है। शहंशाह शाहजहां ने चंद्र वाटिका (मेहताब बाग) का निर्माण कराया था। वो स्वयं यहां से ताजमहल निहारा करता था। मेहताब बाग भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) द्वारा संरक्षित है। यहां से सूर्यास्त के समय ताजमहल का अद्भुत नजारा ना भूलने वाला होता है। यहां की टिकट दर भी कम है। शरद पूर्णिमा या चांदनी रात में भी यहां से ताजमहल देखा जा सकता है।

ताजमहल के पूर्वी गेट के पास होटल ताज खेमा

ताजमहल के पूर्वी गेट से चंद कदमों की दूरी पर पर्यटन निगम का होटल ताज खेमा स्थित है। इसके टीले से हरियाली के बीच ताजमहल का दिलकश नजारा मनमोह लेता है। भूख लगने पर आप यहां लंच या ब्रेकफास्ट भी कर सकते हैं। यहां की हरियाली आपको मंत्रमुग्ध कर देगी। अक्सर ताज खेमा पर कार्यक्रमों का आयोजन होता है।

हवेली आगा खां, ताज टेनरी

ताजमहल के पूर्वी गेट से नगला पैमा जाने वाले मार्ग पर करीब एक किमी की दूरी पर हवेली आगा खां, ताज टेनरी हवेली (खान-ए-दुर्रां) स्थित हैं। एएसआइ द्वारा इनके संरक्षण को प्रीलिमिनरी नोटिफिकेशन किया जा चुका है। हवेली आगा खां के यमुना किनारे बने बुर्ज से यमुना समेत ताजमहल का दीदार आप कर सकते हैं। यहां प्रवेश शुल्क लागू नहीं है। वेडिंग फोटो शूट और फोटो शूट के लिए यह जगह फोटोग्राफरों की पसंदीदा बन रही है। यहां से सूर्यास्त का नजारा मनमोह लेता है।

पूर्वी गेट के पास दशहरा घाट

ताजमहल के पूर्वी गेट से यमुना किनारा स्थित दशहरा घाट को रास्ता जाता है। यह ताजमहल के मुख्य मकबरे के सबसे नजदीक है। यहां यमुना किनारा बने घाट से आप ताजमहल का दीदार कर सकते हैं। यहां सुरक्षा के लिए पीएसी और सीआइएसएफ तैनात रहती है। यमुना का किनारा होने के कारण यहां पर भी खूबसूरती आपका मन मोह लेगी।

Firozabad News: आधी रात को थानेदार के गश्त का अनोखा अंदाज, जनता को खूब भाया, साइकिल से चेक कीं ड्यूटियां

ग्यारह सीढ़ी

यमुना पार मेहताब बाग जाने वाले मार्ग पर ही दाईं ओर यमुना किनारे पर ग्यारह सीढ़ी स्थित है। यह एएसआइ द्वारा संरक्षित है, लेकिन यहां प्रवेश शुल्क लागू नहीं है। यहां से ताजमहल की खूबसूरती को निहार सकते हैं। इसके बराबर में ही एडीए द्वारा ग्यारह सीढ़ी पार्क विकसित किया गया है। जहां आप निर्धारित शुल्क देकर योग आदि के लिए बुकिंग भी करा सकते हैं।

ये भी पढ़ें...

Agra Fort: शाहजहां के आखिरी लम्हों की ये दास्तां, एक बुर्ज में कैद रहा था ताजमहल बनवाने वाला शहंशाह 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट