जागरण संवाददाता, आगरा: बिजली संकट से नाराज ग्रामीणों ने सोमवार को दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों की अफसरों से बहस भी हुई। अफसरों ने बिजली आपूर्ति शीघ्र बहाल कराने का आश्वासन दिया।

दो मई को तूफान आने के बाद से बरौली अहीर सब स्टेशन से पोषित

बरौली अहीर, कुमारगढ़, तनावनगर और बरौली गूजर समेत आसपास के गांवों की बिजली आपूर्ति भी पटरी से उतरी हुई है। फाल्ट ठीक कराने का कार्य धीमी गति से कराया जा रहा है। लगातार कई दिन से इस संकट से परेशान ग्रामीण दोपहर में सबसे पहले सिकंदरा क्षेत्र में एक्सईएन कार्यालय पर प्रदर्शन करने गए। यहां एक घंटे प्रदर्शन करने के बाद वे एमडी कार्यालय पर आए। प्रदर्शनकारी ग्रामीण जेई पर दलाली करने का आरोप लगा रहे थे। उनका कहना था कि बिना सुविधा शुल्क लिए वे फाल्ट ठीक नहीं करा रहे हैं। उनका कहना था कि इस तरह की हरकत में लिप्त इंजीनियरों का तबादला आगरा से बाहर कराया जाए। फाल्ट ठीक कराने के कार्य में तेजी जाए ताकि शीघ्र से शीघ्र समस्या हल हो सके। बता दें कि सुविधा शुल्क लेने के मसले पर पिछले दिनों क्षेत्रीय जेई और ग्रामीणों में विवाद हो गया था। जेई ने एक ग्रामीण रामेश्वर के खिलाफ एफआईआर भी कराया है। ग्रामीणों ने इस झूठे मुकदमे को वापस लेने की मांग की। - विद्युत निगम ने भी जारी की एडवाइजरी

मंगलवार को तूफान आने की आशंका के मद्देनजर विद्युत निगम ने भी एडवाइजरी जारी कर दी है। इसमें जनता से विद्युत खंभों और बिजली के अन्य उपकरणों को नहीं छूने की सलाह दी गई है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप