आगरा, जागरण संवाददाता। निकाय चुनाव की तैयारियों में राजनीतिक संगठन तो पूरी ताकत से जुटे हैं। शासन ने वार्डो का आरक्षण जारी कर सरगर्मियां पैदा कर दी हैं। अभी निगम से लेकर पालिका तक मुखिया का आरक्षण जारी होने का इंतजार है, लेकिन वार्ड स्तर पर दावेदारों ने कसरत तेज कर दी है। दावेदारों की सबसे ज्यादा भीड़ भाजपा कार्यालय और दिग्गजों के घर के चक्कर लगा रही है, तो सपा, बसपा पर भी टिकट मांगने वालों की लंबी कतार है।

उम्मीदवार बनने के लिए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का भी दावेदार दरवाजा खट खटा रहे हैं। सभी ने अलग-अलग प्रक्रिया अपना रखी है, लेकिन प्राथमिकता आरक्षण अनुसार जिताऊ प्रत्याशी को ही है।

दिसंबर के अंतिम सप्ताह तक भाजपा प्रत्याशी करेगी घोषित

भाजपा हर मंडल स्तर से तीन-तीन नाम मांगेगी, जिनको खंगालने के बाद महानगर स्तर से क्षेत्र इकाई को भेजा जाएगा। क्षेत्र इकाई नामों को प्रदेश नेतृत्व को भेजेगी, जिसके बाद प्रत्याशियों की सूची जारी होगी। भाजपा में दावेदार लंबे समय से आकाओं के यहां दावेदारी कर रहे हैं, तो प्रदेशस्तर तक दौड़ लगा रहे हैं। भाजपा महानगर अध्यक्ष भानु महाजन ने बताया कि निकाय चुनाव की तैयारियां मतदाता सूची में मतदाताओं के नाम बढ़वाने के साथ ही लंबे समय से चल रही है। निकाय चुनाव के लिए दो लाख से अधिक नए मतदाता बनवाए गए हैं। मेयर का आरक्षण निर्धारित हो जाए उसके बाद सूची तैयार कर नेतृत्व को भेजी जाएगी। दिसंबर के अंतिम सप्ताह तक प्रत्याशी घोषित होंगे।

ये भी पढ़ें...

बार्सिलोना के जोस और इजाबेल इंडियन कल्चर से हुए इंप्रेस, मंदिर में लिए सात फेरे अब निभाएंगे सात वचन

कांग्रेस क्षेत्रीय नेता खुद चुनेंगे प्रत्याशी, संगठन नहीं थोपेगा

कांग्रेस ने नगर निकाय चुनाव के लिए पहले ही हर वार्ड में प्रभारी तैनात कर दिए थे। उन्हें सामान्य वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग और अनुसूचित जाति के प्रत्याशी ढूंढ़कर रखने को कहा गया था। पार्टी वार्ड के आरक्षण के अनुसार इनमें से प्रत्याशी का चयन करेगी। कांग्रेस के शहर अध्यक्ष देवेंद्र कुमार चिल्लू ने बताया कि क्षेत्रीय नेताओं से कह दिया है कि वह प्रत्याशी चुनें और चुनाव लड़ाएं। हम किसी प्रत्याशी को उनके ऊपर थोपेंगे नहीं। प्रत्याशी चुनकर चुनाव लड़ाओ और जिताओ। पार्टी उनका पूर्ण सहयोग करेगी।

ये भी पढ़ें...

Mathura News: सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या, खौफ में छोटी बहन, सदमे में परिवार, आबरू बचाने को जूझी थी किशोरी

पूरी दमदारी से सपा लड़ेगी चुनाव

सपा ने दो माह पूर्व ही हर वार्ड में सामान्य वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग और अनुसूचित जाति के लोगों के पैनल बना दिए गया था। उन्हें चुनाव के लिए प्रत्याशियों को तलाशने को कहा था। पार्टी के ताजनगरी स्थित कार्यालय पर एक माह से आवेदन लिए जा रहे हैं। सपा के निवर्तमान शहर अध्यक्ष वाजिद निसार ने बताया कि प्रत्येक वार्ड से बड़ी संख्या में आवेदन मिले हैं। सभी आवेदनों पर विचार कर योग्य उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। पार्टी दमदारी से सभी वार्डों में चुनाव लड़ेगी। कुछ वार्डों में किए गए गलत आरक्षण को सुधारने को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

आवेदनाें पर चिंतन के बाद आप उतारेंगे प्रत्याशी

आम आदमी पार्टी पूरी ताकत से साथ स्थानीय निकाय चुनाव में भागीदारी करेगी। ब्रज प्रांत अध्यक्ष डा. ह्रदयेश चौधरी ने बताया कि हर वार्ड स्तर पर कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित कर आवेदन लिए जा रहे हैं। अब तक नगर निगम के लिए 80 और नगर पंचायत के लिए 25, नगर पालिका के लिए 15 से अधिक आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। अन्य दावेदारों की सूची भी तैयार कराई जा रही है। चिंतन के बाद प्रत्याशियों को मैदान में उतारा जाएगा।

सदस्यता अभियान में सक्रियता दिखाने वालों को बसपा देगी प्राथमिकता

बसपा जिलाध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने बताया कि संगठन द्वारा निर्धारित पैनल आवेदन लेगा और उसी के अनुसार प्रत्याशी की सूची नेतृत्व द्वारा जारी की जाएगी। पार्टी के सदस्यता अभियान में आगे बढ़कर भाग लेने वालों और सक्रिय एवं पुराने कार्यकर्ताओं को टिकट देने में प्राथमिकता दी जाएगी। अधिसूचना जारी होने के तुरंत बाद ही प्रत्याशियों की सूची जारी होगी।

87 सीटों पर बदले समीकरण, बदलेंगे दावेदार

आगरा नगर निगम चुनाव के लिए जारी किए गए वार्ड आरक्षण में 87 सीटों के समीकरण बदल गए हैं। 13 सीटों पर कोई बदलाव नहीं हुआ है। जो सीटों महिलाओं के लिए आरक्षित हैं उन सीटों पर वर्तमान पार्षद अपनी पत्नी की दावेदारी करने की तैयारी कर रहे हैं। कई पार्षद अपना वार्ड बदलकर भी नगर निगम चुनाव के लिए दावेदारी करने की रणनीति बना रहे हैं।

ये भी पढ़ें...

UP News: यूपी और उत्तराखंड की वो खबरें जिन पर रहेगी आपकी नजर, पढ़िए यहां आज के प्रमुख समाचार

नगर निगम चुनाव के लिए वर्तमान पार्षदों के साथ ही पिछले चुनाव में हारने वाले दावेदारी कर रहे थे। मगर, आरक्षण सूची जारी होने के साथ ही पार्षदों के अरमानों पर पानी फिर गया। 13 सीटों पर आरक्षण नहीं बदला है। कई सीट महिला के लिए सुरक्षित है, इन सीटों पर वर्तमान पार्षद अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाने के लिए दावेदारी करेंगे। वहीं, कई वर्तमान पार्षद अपना वार्ड बदलाव चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी करने की तैयारी में जुट गए हैं।

इन वार्डों में नहीं बदला आरक्षण

वार्ड संख्या 48, वार्ड संख्या 53, वार्ड संख्या 78, वार्ड संख्या 80 , वार्ड संख्या 82, वार्ड संख्या 84, वार्ड संख्या 86, वार्ड संख्या 89, वार्ड संख्या 91, वार्ड संख्या 94, वार्ड संख्या 95, वार्ड संख्या 99 और वार्ड संख्या 100

वर्तमान में दलों की स्थिति

भाजपा पार्षद जीते 53 10 बाद में भाजपा में शामिल हो गए, 10 नामित पार्षद बसपा पार्षद जीते 27 दो शामिल हुए, दो ने पार्टी छोड़ी सपा पार्षद जीते 05 तीन शामिल हुए एक ने छोड़ी सपा कांग्रेस 02 निर्दलीय 15 भाजपा, सपा और बसपा में हो गए शामिल वार्ड आरक्षण अनारक्षित 36महिला 18 अनुसूचित जाति 16 अनुसूचित जाति महिला 08 पिछड़ा वर्ग 14पिछड़ा वर्ग महिला 08 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट