आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा मेट्रो के संचालन का माह और वर्ष तय हो गया है। सब कुछ ठीक ठाक रहा तो नवंबर 2021 से आगरा मेट्रो दौडऩा शुरू हो जाएगी, जबकि जुलाई 2021 में मेट्रो का ट्रायल होगा। सबसे पहले सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट कॉरिडोर पर मेट्रो चलना शुरू होगी फिर दूसरे कॉरिडोर आगरा कैंट से कालिंदी विहार पर ट्रेनों का संचालन होगा।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले दिनों आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट की तैयारियों की समीक्षा की। सीएम ने निर्धारित समय पर मेट्रो के संचालन पर जोर दिया। उन्होंने मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय को आदेश दिया कि नियमित अंतराल में मेट्रो के कार्य की समीक्षा करेंगे। सीएम ने कहा कि जिन विभागों से एनओसी लेनी है, उनसे समन्वय स्थापित किया जाए, जिससे एनओसी मिलने में देरी न हो। खासकर टीटीजेड प्राधिकरण, यूपीपीसीबी, एएसआइ शामिल हैं। लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के एक अधिकारी ने बताया कि मेट्रो का प्रोजेक्ट 8379 करोड़ रुपये का है। अब तक 175 करोड़ रुपये मिल चुके हैं।

आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट एक नजर में

- आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट की लागत 8379 करोड़ रुपये है।

- आगरा मेट्रो की कुल लंबाई 30 किमी है।

- दोनों कॉरीडोर पर तीस स्टेशन होंगे।

- दोनों कॉरीडोर पर 22 स्टेशन एलीवेटेड और आठ स्टेशन अंडरग्राउंड होंगे।

- आगरा मेट्रो में तीन डिब्बे होंगे। एक डिब्बे की कीमत 11 करोड़ रुपये होगी।

- दोनों रूट पर तीस ट्रेनों का संचालन होगा।

- पहले चरण में बीस ट्रेनें खरीदी जाएंगी। इनकी खरीद चीन से होगी।

- पांच मिनट के अंतराल पर मेट्रो मिलेगी।

- दो मिनट में एक किमी का सफर तय होगा।

- उप्र मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा मेट्रो ट्रैक व स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।

- मेट्रो में एडवांस सिक्योरिटी फीचर में दरवाजा पर डबल लॉक होगा।

- डिस्प्ले सिस्टम, पब्लिक एनाउंसमेंट सिस्टम भी होंगे।

- महिलाओं के लिए सीटें रिजर्व होंगी।

कॉरीडोर का नाम, एलीवेटेड ट्रैक, अंडरग्राउंड ट्रैक, कुल दूरी

सिकंदरा-ताज पूर्वी गेट, 6.35 किमी, 7.67 किमी, 14 किमी

आगरा कैंट-कालिंदी विहार, 16 किमी, शून्य, 16 किमी  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस