आगरा, जागरण संवाददाता। Agra Metro Rail Project (आगरा मेट्रो रेल प्रोजेक्ट) काे गति देने के लिए एडीजी पीएसी वीके सिंह शुक्रवार को आगरा पहुंचे। उन्होंने पीएसी के अधीनस्थ अधिकारियों के साथ बैठक की। मेट्रो के लिए पीएसी की अधिग्रहित की जाने वाली जमीन और पीएसी की बटालियन काे स्थानांतरित करने की अब तक हुई कार्रवाई की समीक्षा कर रहे हैं। पीएसी गेस्ट हाउस में हुई बैठक में 15 बटालियन की कमांडेंट पूनम और मेट्रो प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारी भी मौजूद रहे। अधीनस्थों के साथ बैठक के बाद एडीजी मेट्रो के लिए अधिग्रहित होने वाली जमीन का निरीक्षण करेंगे। 

ढूंढा जाएगा 15वीं पीएसी बटालियन का नया ठिकाना 

गुरुवार को लखनऊ में मुख्य सचिव आरके तिवारी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट की समीक्षा की। भूमि हस्तांतरण को लेकर स्थानीय अफसरों से रिपोर्ट मांगी। अफसरों ने बताया कि सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट तक मेट्रो का पहला कॉरिडोर होगा। मेट्रो का पहला डिपो पीएसी ग्राउंड में बनेगा। इससे पीएसी को शिफ्ट करना होगा। पीएसी के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला में सात हेक्टेअर जमीन चिन्हित की गई है। इसके अलावा महुआखेड़ा में दस, बाह में 21 हेक्टेअर जमीन है। पीएसी को कुल 8.09 हेक्टेअर जमीन चाहिए, जिसमें एक हेक्टेअर में पीएसी ग्राउंड बनेगा। मेट्रो के तहत तहसील फतेहाबाद के ग्राम मुटवई में गाटा संख्या दस में 21 हेक्टेअर जमीन है। यह जमीन वनसंरक्षित श्रेणी में आती है। डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि संयुक्त टीम जो भी स्थल फाइनल करेगी, वहीं पर पीएसी को शिफ्ट किया जाएगा। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी, प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार, प्रमुख सचिव नियोजन आमोद कुमार सहित अन्य अफसर मौजूद रहे।

चारागाह की जमीन संरक्षित वन क्षेत्र में आएगी

मुख्य सचिव ने कहा कि बाह तहसील के गढ़वार में 32.26 हेक्टेअर बंजर भूमि है। यह चारागाह की है। चारागाह की भूमि को संरक्षित वन क्षेत्र में कन्वर्ट किया जाएगा। मंडलायुक्त अनिल कुमार यह प्रक्रिया पूरी कराएंगे।

Posted By: Tanu Gupta

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस