आगरा, जागरण संवाददाता। ताजमहल के नजदीक पीएसी मैदान में मेट्रो शेड के निर्माण और फतेहाबाद रोड पर रेल लाइन बिछाने के दौरान प्रदूषण नियंत्रण के उपाय नहीं किए जाने पर उप्र मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी) पर 29.25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। उप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) ने 78 दिनों तक पर्यावरण को क्षति पहुंचाने पर यह कार्रवाई की है। बोर्ड ने 37500 रुपये प्रतिदिन की दर से जुर्माने का आकलन किया है।

78 दिनों के लिए 29.25 लाख रुपये की पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति का नोटिस जारी

यूपीएमआरसी द्वारा शहर में रेल लाइन बिछाने के काम का यूपीपीसीबी के अधिकारियों ने पिछले वर्ष 10, 13, 16, 22, 25, 26 अक्टूबर को निरीक्षण किया था। 11 नवंबर को यूपीपीसीबी के अधिकारियों ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के प्रभारी अधिकारी व पर्यावरण अभियंता के साथ निरीक्षण किया था। यूपीएमआरसी के परियोजना प्रबंधक को पिछले वर्ष 14 सितंबर, एक नवंबर और 11 नवंबर को धूल नियंत्रण के प्रभावी उपाय करने को पत्र भेजा गया था।

अब 14 सितंबर, 2021 से 30 नवंबर, 2021 तक कुल 78 दिनों के लिए 29.25 लाख रुपये की पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति यूपीएमआरसी पर अधिरोपित करते हुए यूपीपीसीबी ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

एनएचएआइ को जमा करना पड़ा था जुर्माना

पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति के लिए आगरा में सर्वाधिक राशि का जुर्माना नेशनल हाईवे अथारिटी अाफ इंडिया (एनएचएआइ) पर किया गया था। एनएचएआइ को 6.71 करोड़ रुपये की धनराशि जमा करानी पड़ी थी। जल निगम पर 37.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जा चुका है।

ये भी पढ़ें... Agra Top News: मां के डांटने पर नदी में कूदी युवती, एक क्लिक में पढ़ें आगरा और आसपास की टाप 6 खबरें

यूपीएमआरसी द्वारा शेड निर्माण व रेल लाइन बिछाने के दौरान नियमित निरीक्षण किया गया। धूल नियंत्रण को उचित इंतजाम नहीं पाए गए। राष्ट्रीय हरित अधिकरण के आदेश पर पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति अधिरोपित की गई है। मेट्रो के प्रोजेक्ट मैनेजर को वायु प्रदूषण निवारण एवं नियंत्रण अधिनियम के तहत नोटिस भेजा गया है। -डा. विश्वनाथ शर्मा, प्रभारी क्षेत्रीय अधिकारी यूपीपीसीबी

ये भी पढ़ें... Agra Places To Visit: सस्ते में ताजमहल देखना है तो आइये यहां, बेहद खूबसूरत है मेहताब बाग, नाइट व्यू की टिकट है कम

हमें कोई नोटिस नहीं मिला है। हम पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध हैं। व्हील वाश प्लांट और स्माग गन हमने लगा रखी है। हमारा काम जनता में है और जनता इसे देख रही है।  -अरविंद कुमार, प्रोजेक्ट मैनजर, आगरा मेट्रो 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट