जागरण संवाददाता, आगरा: देश के सात राज्यों में चल रहे किसान आंदोलन का भले ही आगरा में सीधा प्रभाव न दिख रहा हो, लेकिन मंडी में असर नजर आने लगा है। यहां से बाहर जाने वाले फल और सब्जी की मांग घट गई है जबकि दूसरे राज्यों से आने वाली फल सब्जी की आवक घट रही है।

सिकंदरा मंडी में इस समय आम की भरमार है। आंधी में टूटने के कारण इसकी आवक और बढ़ गई है। लेकिन किसान आंदोलन के कारण इनकी सप्लाई आंदोलन प्रभावित राज्य राजस्थान, महाराष्ट्र, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब में नहीं हो पा रही है। आम जल्दी खराब होता है और अगर यही हालत रही तो बाजार में इसके दाम में तेजी से कमी आ सकती है। फल आढ़ती हेम सिंह सिसौदिया ने बताया कि इस समय मंडी में आम की अच्छी आवक से दाम 10 से 20 रुपये किलो हैं, पिछले साल यह 25 से 30 रुपये किलो बिका था। इस समय राजस्थान, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र आदि राज्यों में दशहरी आम की अच्छी मांग रहती है। इन राज्यों में आगरा मंडी से रोजाना 15 से 20 गाड़ी जा रही हैं, पहले यह ज्यादा जाती थीं। अगर आंदोलनकारी किसानों ने गाड़ियां रोकना शुरू कर दीं तो माल भेजना पूरी तरह बंद हो सकता है।

फल आढ़ती गजेंद्र सिंह सिसौदिया ने बताया कि सिकंदरा मंडी से हरियाणा के पलवल, जेवर, फरीदाबाद, राजस्थान के ¨हडौन, भरतपुर, धौलपुर और मध्यप्रदेश के जौहा, मुरैना, जैतपुर, ग्वालियर आदि जगह आम जाता है। माहौल को देखते हुए व्यापारियों की मांग कम है। आवक को देखते हुए पहले आर्डर ज्यादा रहते थे, लेकिन इस बार असर दिख रहा है।

आलू और प्याज पर दिखेगा असर

सब्जी आढ़ती बबलू भाई ने बताया कि अभी जो ट्रक मंडी पहुंच रहे हैं, उन्हें रास्ते में नहीं रोका गया, लेकिन आने वाले दिनों में हालात क्या रहते हैं, उसी पर मांग और पूर्ति निर्भर रहेगी। मप्र, राजस्थान, महाराष्ट्र, हरियाणा आदि में आगरा से आलू जाता है। इंदौर से आगरा प्याज आती है। आने वाले दिन में आंदोलन ने रफ्तार पकड़ी तो छह से सात रुपये किलो बिक रही प्याज के दाम बढ़ सकते हैं। आलू की मांग पर भी बंदी का असर दिख सकता है।

फीरोजाबाद का भी हो सकता है असर

फीरोजाबाद में शनिवार को किसान आंदोलन में कूद पड़े। आगरा की मंडी में एटा, फीरोजाबाद, मैनपुरी, हाथरस से बड़ी मात्रा में सामान आता है। आशंका ये भी है कि आगरा में भी किसान सक्रिय हो सकते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप