आगरा, अली अब्बास। जेल चला जाउंगा लेकिन पत्नी काे नहीं ले जाउंगा। परिवार परामर्श केंद्र में काउंसलर के सामने उस समय अजब स्थिति पैदा हो गई, जब पति के गैर हाजिर रहने पर उसे फोन किया। उसने छूटते ही कहा जेल चला जाउंगा, लेकिन पत्नी को साथ नहीं ले जाउंगा। जिद पर अड़े पति को काफी समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह कुछ सुनने को तैयार नहीं हुआ। जिसके बाद पति के खिलाफ अब कार्यवाही की संस्तुति की गई है।

किसी बात पर हुआ नाराज

मामला शहर के रहने वाले दंपती का है। उनके निकाह को अभी एक वर्ष भी नहीं हुआ है। दोनों के बीच किसी बात पर रार हो गई। जिससे पति बेहद नाराज हो गया। उसने उस समय तो पत्नी को कुछ नहीं कहा, लेकिन जब वह मायके आई ताे पति लेने नहीं आया। दोनाें के बीच का विवाद पता चलने पर परिवार के लोगों ने आपसी बातचीत से मामला सुलझाने का प्रयास किया। मगर, इससे बात नहीं बनी, पति उसे ले जाने काे राजी नहीं हुआ।

पुलिस तक पहुंचाना पड़ा मामला

पत्नी दो सप्ताह पहले पुलिस में शिकायत कर दी। मामला परिवार परामर्श केंद्र भेजा गया था। काउंसलर ने दोनों में सुलह कराने के लिए पति को तारीख दी, वह नहीं आया। जब दूसरी तारीख पर काउंसिलिंग को नहीं आया तो उसे फोन किया गया। पति का छूटते ही कहना था कि वह अगली तारीख पर भी नहीं आएगा। जिस पर परिवार परामर्श केंद्र की ओर से कहा गया कि उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही हो सकती है। पत्नी को नहीं ले जाने व उसके उत्पीड़न के मामले में उसके साथ ही परिवार के अन्य लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की जा सकती है।

पति के खिलाफ होगी अब रिपोर्ट

जिस पर पति का कहना था कि वह जेल चला जाएगा, पत्नी को अपने साथ नहीं ले जाएगा। काफी समझाने के बाद भी वह पत्नी को अपने साथ ले जाने काे तैयार नहीं हुआ। पति की इस जिद से पत्नी को उसके किसी और युवती से संबंध होने का शक हो रहा है। पति के खिलाफ प्राथमिकी लिखने की संस्तुति की गई है।

Edited By: Prateek Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट