आगरा: भारत में 22 साल बाद एशियन स्कूल फुटबॉल चैंपियनशिप का आयोजन होगा। ताजनगरी को इसकी मेजबानी का मौका मिला है। एशिया के 10 से अधिक देशों की टीमें 20 सितंबर से आगरा में फुटबॉल के मुकाबले खेलती नजर आएंगी।

स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसजीएफआइ) की ओर से 20 से 30 सितंबर तक 46वीं एशियन स्कूल फुटबॉल चैंपियनशिप का आयोजन होगा। शुक्रवार को आगरा कैंट स्थित होटल ग्रांड में एसजीएफआइ की प्रेसवार्ता में चैंपियनशिप के चीफ कंट्रोलर महंत योगेश पुरी ने बताया कि प्रतियोगिता में दो पूल होंगे। सभी मैच लीग कम नॉक आउट के आधार पर खेले जाएंगे। रोज तीन मुकाबले होंगे। 22 को इसका उद्घाटन आनंद इंजीनिय¨रग कॉलेज पर होगा। जबकि समापन समारोह प्रिल्यूड पब्लिक स्कूल में। आरएसओ राजेश कुमार सिंह, सुशील गुप्ता, कमल चौधरी, सुरेश कुमार गर्ग, सुरेन्द्र प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे। इन देशों की टीम आएंगी

भारत, दक्षिण कोरिया, चीन, थाईलैंड, मलेशिया, इंडोनेशिया, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश और अफगानिस्तान। 2016 में ईरान में हुआ था आयोजन

दो साल में एक बार होने वाली चैंपियनशिप 2016 में ईरान में हुई थी। तब आगरा में मुकाबले के लिए राष्ट्रीय टीम का चयन किया गया था। रुद्रपुर में होगा भारतीय टीम का चयन

चैंपियनशिप के लिए रुद्रपुर में राष्ट्रीय कैंप आयोजित किया गया है। इसमें देशभर से चयनित 55 खिलाड़ी ट्रेनिंग ले रहे हैं। यहीं भारतीय टीम का चयन होगा। कई वीवीआइपी होंगे शामिल

प्रतियोगिता में कई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और केन्द्रीय मंत्री शामिल होंगे। उद्घाटन समारोह में एसजीएफआइ के अध्यक्ष और अंतरराष्ट्रीय पहलवान सुशील कुमार, यूपी के खेल मंत्री चेतन चौहान, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर मदनलाल, फुटबॉल खिलाड़ी बाइचुंग भूटिया, सुनील छेत्री शामिल होंगे। केन्द्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भी आने की संभावना है।

Posted By: Jagran