आगरा, जागरण संवाददाता। स्कूल, फीस के अभाव में न तो विद्यार्थियों को आनलाइन कक्षाओं से निकालेंगे, न उन्हें परीक्षा में शामिल होने या रिजल्ट देखने से रोकेंगे। लेकिन जिन अभिभावकों ने पिछले साल से अब तक फीस जमा नहीं कराई हैं, उन्हें जल्द से जल्द एक तिमाही की फीस जमा करानी होगी, तभी उनके बच्चे का प्रवेश सुनिश्चित माना जाएगा। यह निर्णय सोमवार को एडीएम सिटी डा. प्रभाकांत अवस्थी की अध्यक्षता में हुई अभिभावकों और स्कूल संचालकों की बैठक में लिया गया।

उन्होंने स्कूल संचालकों व अभिभावकों के साथ बैठक कर फीस को लेकर चल रही रार का समाधान निकालने की कोशिश की। नेशनल प्रोग्रेसिव स्कूल आफ आगरा (नप्सा) अध्यक्ष संजय तोमर का कहना था कि जिन विद्यार्थियों ने पिछले सत्र से अब तक फीस नहीं दी, न ही स्कूल से संपर्क किया, हम कैसे पुष्टि करें कि वह हमारे विद्यार्थी हैं या नहीं। एडीएम सिटी ने तय किया कि अब तक फीस जमा न करने वाले अभिभावक तत्काल एक तिमाही की फीस जमा कराएं। उन पर एकमुश्त फीस जमा करने का दबाव न पड़े, इसलिए आगामी फीस जमा करने को स्कूल प्रबंधन समय देंगे। आर्थिक समस्या होने पर भी स्कूल प्रबंधन से प्रार्थना कर सकेंगे। शासनादेश और शिक्षा कानून के अंतर पर शासन से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। यदि फीस में छूट का प्रावधान होगा, तो स्कूलों द्वारा छूट दी जाएगी।

बनेगा शिकायत प्रकोष्ठ

जिला विद्यालय निरीक्षक मनोज कुमार ने बताया कि अभिभावकों और स्कूलों के बीच में चल रहे तनाव को कम करने के लिए उच्च प्राथमिक और माध्यमिक स्तर पर एक शिकायत प्रकोष्ठ का गठन किया जाएगा। यदि कोई स्कूल इसके विपरीत कार्य करेगा, तो तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

रखेंगे नजर

टीम पापा के राष्ट्रीय संयोजक दीपक सरीन का कहना है कि बैठक में तय होने के बाद भी यदि अभिभावकों को प्रधानाचार्य से नहीं मिलने दिया गया, तो टीम पापा अभिभावकों की मदद के लिए उस स्कूल के बाहर कैंप लगा कर उनकी समस्या हर कराएगी। बैठक में डा. सुशील गुप्ता, डा. गिरधर शर्मा, फादर एंड्रयू मैथ्यू कोरेया, राजपाल सोलंकी, राजू डेनियल आदि मौजूद रहे। 

Edited By: Tanu Gupta