आगरा : प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में आगरा विकास प्राधिकरण (एडीए) दो हजार फ्लैट बनाएगा। एडीए ने महुआखेड़ा में जमीन चिह्नित की है।

प्राधिकरण के आवास के लिए सात सितंबर से आवेदन पक्रिया शुरू हो गई है, इसकी अंतिम तारीख तीस सितंबर है। दो हजार आवास बनाने के बाद एडीए तीन हजार मकान और बनाएगा।

प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में दस हजार आवास पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप से बनाए जाएंगे। ओपी चेंस ग्रुप एक हजार फ्लैट बनाएगा। बाकी नौ हजार आवास के लिए अभी तक कोई भी बिल्डर सामने नहीं आया है। एक हेक्टेअर में अब दो सौ के बदले 150 ईडब्ल्यूएस आवास ही बन सकेंगे। इसके लिए समय सीमा बढ़ा दी गई है। पहले 18 माह का समय निर्धारित था, अब 24 माह में आवास बनाकर देने होंगे। बिल्डर को विकास शुल्क एक साथ नहीं, बल्कि इसे तीन किश्तों में जमा कराने की सुविधा होगी। योजना में बनने वाले आवास की कीमत साढ़े चार लाख रुपये होगी। इसमें से केंद्र सरकार द्वारा डेढ़ लाख और राज्य सरकार एक लाख रुपये अनुदान के रूप में देगी। यानी लाभार्थी को दो लाख रुपये ही देने होंगे।

अपना लोगो बदलेगा एडीए: आगरा विकास प्राधिकरण (एडीए) जल्द ही लोगो बदल देगा। 25 साल के बाद लोगो में बदलाव किया जाएगा। अफसरों की टीम प्रदेश के सभी लोगो की डिजाइन और मोटो का अध्ययन कर रही है।

एडीए का गठन सितंबर 1974 में हुआ था। इसके बाद लोगो बनाया गया। लोगो के बीचोंबीच ताजमहल का फोटो लगा हुआ है। इसकी डिजाइन सामान्य है। कुछ खास आकर्षित नहीं कर पाती है। कोई मोटो नहीं लिखा हुआ है। एडीए के एक अधिकारी ने बताया कि अन्य विकास प्राधिकरण के मोटो का अध्ययन किया जा रहा है। लोगो की नई डिजाइन पर काम चल रहा है।

Posted By: Jagran