आगरा, जागरण संवाददाता।  ताजमहल और आगरा किला के बाद फतेहपुर सीकरी और सिकंदरा भी मातृत्व का सम्मान करने वाले स्मारक बन गए हैं। शनिवार को दोनों स्मारकों में बेबी केयर और फीडिंग रूम का उद्घाटन किया गया। अब यहां महिलाओं को असहज स्थिति का सामना नहीं करना पड़ेगा। वो बेबी केयर और फीडिंग रूम में बच्चों को स्तनपान करा सकेंगी।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) द्वारा फतेहपुर सीकरी और सिकंदरा में तैयार कराए गए बेबी केयर और फीडिंग रूम को लंबे समय से उद्घाटन का इंतजार था। शनिवार को कमिश्नर अमित गुप्ता की पत्नी डा. प्रीति गुप्ता (अध्यक्ष मंडलीय आकांक्षा समिति) ने फतेहपुर सीकरी में फीता काटकर चाइल्ड केयर और बेबी केयर और फीडिंग रूम का उद्घाटन किया। डा. प्रीति गुप्ता को एएसआइ आगरा सर्किल के अधीक्षण पुरातत्वविद् डा. वसंत कुमार स्वर्णकार ने रूम में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी दी। सीकरी में जोधाबाई पैलेस में रूम बनाया गया है। जोधाबाई पैलेस में ही आगरा के स्मारकों पर आधारित डाक्यूमेंट्री एलईडी पर चला करेगी। महिला पर्यटक जब रूम में बच्चे की देखभाल कर रही होंगी, तो पुरुष पर्यटक डाक्यूमेंट्री देख सकेंगे। डा. प्रीति गुप्ता ने एएसआइ के महिलाओं के लिए किए गए प्रयास को सराहा। सहायक अधीक्षण पुरातत्वविद् आरके सिंह, हेमंत पाहन, संरक्षण सहायक कलंदर आदि मौजूद रहे। सिकंदरा में प्रवेश द्वार के दायें तरफ टायलेट के पास बेबी केयर और फीडिंग रूम बनाया गया है। इसे भी शनिवार से शुरू कर दिया गया।

अधीक्षण पुरातत्वविद् डा. वसंत कुमार स्वर्णकार ने बताया कि आगरा के तीनों विश्व धरोहर स्थलों में बेबी केयर और फीडिंग रूम की सुविधा हो गई है। इससे महिला पर्यटकों को असहज स्थिति का सामना नहीं करना पड़ेगा।

ताजमहल बना था दुनिया का पहला स्मारक

बेबी केयर और फीडिंग रूम की सुविधा वाला पहला स्मारक ताजमहल बना था। रायल गेट के बायीं तरफ टायलेट के पास बनाए गए रूम का उद्घाटन 29 अगस्त, 2019 को तत्कालीन केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने किया था। इसके बाद आगरा किला में 21 सितंबर, 2019 को बेबी केयर और फीडिंग रूम का उद्घाटन सांसद प्रो. एसपी सिंह बघेल और उनकी पत्नी मधु बघेल ने किया था।

Edited By: Nirlosh Kumar