आगरा, नवनीत शर्मा। ये आस्था की वह डोर है, जो अपने आराध्य के साथ श्रद्धा से बंधी है। ये डोर आस्था की चौखट पर श्रद्धालुओं को खींच लाई। अयोध्या मुद्दे पर फैसले से श्रद्धालु बेफिक्र हैं। फैसले के बीच जहां शनिवार को हजारों की संख्या में कान्हा की नगरी में श्रद्धालु आराध्य के दर्शन को पहुंचे, रविवार को कई गुना अधिक संख्या में श्रद्धालु शांति का पैगाम लेकर पहुंचे।

श्रीकृष्ण जन्मस्थान हो द्वारिकाधीश मंदिर हो या फिर बांकेबिहारी का दरबार। गोकुल, गोवर्धन और बरसाना में भी श्रद्धालुओं के पग आस्था की डगर पर बढ़ते रहे। श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच से गुजरना पड़ा, लेकिन आस्था नहीं डिगी। भक्तों की लंबी कतारें लगी रहीं। ब्रज में हरिनाम संकीर्तन के साथ भक्ति की अविरल धारा बही। लखनऊ से पत्नी और बच्चों के साथ रामशरण श्रीवास्तव सुबह आठ बजे ही श्रीकृष्ण जन्मस्थान पहुंचे। प्रक्रिया के बीच उनकी और अन्य परिजनों को तलाशी ली गई। लेकिन विचलित नहीं हुए। यहां दर्शन के बाद वह द्वारिकाधीश और फिर बांकेबिहारी पहुंचे। अयोध्या के फैसले से पूरी तरह बेफिक्र। बोले, हमारे लिए आस्था से बढ़कर कोई नहीं है। सुबह शहर के विश्रामघाट पर यमुना स्नान व पूजन कर सुख-समृद्धि की कामना की गई। इनमें बड़ी संख्या में वह श्रद्धालु थे, जो गुजरात व छत्तीसगढ़ से आए थे। पौ फटने के साथ भक्तों का जो सैलाब मंदिरों में उमड़ा, पट बंद होने के बाद ही थमा।

तनाव पर श्रद्धा हावी

अयोध्या पर आए निर्णय से श्रद्वालुओं के चेहरों पर कोई तनाव नहीं है। रोजाना की तरह ही श्रद्धालुओं की संख्या रही है। मंदिर में करीब आठ हजार श्रद्धालु दर्शन करने आए हैं। श्रद्धालुओं की संख्या पर कोई फर्क नहीं दिखाई दिया है।

एड. राकेश तिवारी-मीडिया प्रभारी, द्वारिकाधीश मंदिर

श्रद्धालुओं की संख्या में कोई असर दिखाई नहीं दिया है। श्रद्धालु प्रभु की भक्ति में लीन हैं। रविवार होने के कारण भक्तों की संख्या और अधिक रही है।

गोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी-सदस्य, श्रीकृष्ण जन्मस्थान

भीड़ से बिगड़ी व्यवस्था

ठा. बांकेबिहारी मंदिर में रविवार सुबह भक्तों की भीड़ से व्यस्थाएं बिगड़ती नजर आईं। मंदिर के पट खुलने से पहले ही श्रद्धालुओं का हुजूम चबूतरे पर मौजूद था। पट खुले तो एकसाथ श्रद्धालुओं का रेला प्रवेश कर गया। राधाबल्लभ मंदिर में भी सुबह से श्रद्धालुओं की भीड़ रही। सप्तदेवालयों में शामिल राधादामोदर, राधाश्यामसुंदर, राधारमण, राधागोविंद देव, गोपीनाथ, मदनमोहन मंदिर भी श्रद्धालुओं की भीड़ से गुलजार नजर आए।  

Posted By: Prateek Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप