आगरा, जागरण संवाददाता। कोतवाली के कूचा साधूराम में हुए सामूहिक हत्याकांड के आरोपित तीन दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर रहेंगे। विवेचक द्वारा हत्या के बाद लूटे गए सामान व आला कत्ल की बरामदगी के लिए विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावी क्षेत्र की अदालत में प्रार्थना पत्र दिया था। जिस पर सुनवाई के बाद अदालत ने तीनों आरोपितों की रिमांड स्वीकृत करने के आदेश दिए। आरोपित पांच अगस्त की सुबह दस बजे से आठ अगस्त की सुबह 11 बजे तक पुलिस कस्टडी रिमांड पर रहेंगे।

कूचा साधूराम की चौबेजी वाली गली में 21 जुलाई को रेखा राठौर और उनके बेटों वंश उर्फ टुकटुक (12 वर्ष), पारस (10 वर्ष) और बेटी माही (8 वर्ष) की गला काटकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने 27 जुलाई को हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए आरोपितों संतोष राठौर, वीरू और अंशुल को गिरफ्तार किया था। आरोपित संतोष रिश्ते में रेखा का भाई है। हत्यारों ने लाखों की नकदी और जेवरात घर में होने की आशंका पर वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस को अभी तक लूटा गया मोबाइल, लैपटाप, टैबलेट और आला कत्ल समेत अन्य चीजें नहीं मिली हैं।इंस्पेक्टर कोतवाली सुभाष चंद्र पांडेय ने वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी के माध्यम से अदालत में आरोपितों को कस्टडी रिमांड पर लेने के लिए प्रार्थना प्रस्तुत किया था। हत्यारोपित घटना के बाद कानपुर, एटा,चित्रकूट, बांदा आैर जयपुर भागे थे। उन्होंने आला कत्ल, हत्या के दौरान पहले कपड़े आदि अलग-अलग जगहों पर छिपा रखा है। प्रार्थना पत्र पर सुनवाई के बाद अदालत ने आरोपितों की तीन दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड स्वीकृत करने के आदेश दिए। 

Edited By: Tanu Gupta