आगरा, जागरण संवाददाता। सूर सरोवर पक्षी विहार में फ्लोमिंगो की फिर से दस्तक होने लगी है। गुरुवार सुबह को लगभग 120 फ्लोमिंगो का एक नया झुंड पहुंचा है। बार हेडेड गूज पहले से ही बड़ी संख्या में रुकी हुुई है। इतना ही नहीं, पर्यटकों की संख्या में भी इजाफा होने लगा है।

सूर सरोवर पक्षी विहार अक्टूबर से फरवरी तक प्रवासी पक्षियों का बसेरा रहता है। कीठम झील में सबसे ज्यादा फ्लेमिंगो व बार हेडेड गूज और ग्रेट कार्मोरेंट रहती है। इनकी अठखेलियों का आनंद लेने के लिए पर्यटकों झील पर पहुंचते हैं। मकर संक्रांति की छुट्टी होने का फायदा सूर सरोवर पक्षी विहार को भी मिला है। पर्यटकों की संख्या में इजाफा हो गया है।

अप्रवासी पक्षियों की अठखेलियां

सूर सरोवर पक्षी विहार में अप्रवासी पक्षियों का कलरव सुनाई देता है। कीठम झील के पानी में ये भोजन के लिए अटखेलियां करते नजर आते हैं।

पर्यटक नहीं, पक्षियों की चिंता

राष्ट्रीय चंबल सेंक्चुरी परियोजना आगरा डिवीजन के वनाधिकारियों को पर्यटकों से ज्यादा पक्षियों की चिंता है। बर्ड फ्लू की वजह दिन-रात पक्षियों की निगरानी कर रहे हैं। हालांकि अभी तक पक्षियों की गतिविधि असामान्य नहीं मिली है।

रात में लगभग 120 फ्लोमिंगो का नया झुंड आया है और बार हेडेड गूज के कई झुंड पहले से मौजूद हैं। प्रवासी पक्षियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

योगेश सिंह, वन क्षेत्राधिकारी, सूर सरोवर पक्षी विहार 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप