आगरा, जागरण संवाददाता। ताजमहल पश्चिमी गेट स्थित अमरूद का टीला में मल्टीलेवल पार्किंग के निर्माण को 42 पेड़ काटे जाएंगे। पेड़ काटने की अनुमति को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की जाएगी। इससे पूर्व स्थलीय निरीक्षण 24 जुलाई को किया जाएगा।

ताजमहल पर वाहनों के दबाव के चलते पार्किंग कई बार छोटी पड़ जाती हैं। पश्चिमी गेट पर अमरूद का टीला में प्रो-पुअर टूरिज्म डवलपमेंट प्रोजेक्ट में मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण किया जाना है। यहां कई पेड़ लगे हुए हैं। आर्किटेक्ट द्वारा बनाई गई ड्राइंग के अनुसार यहां मल्टीलेवल पार्किंग के निर्माण को 42 पेड़ काटने की आवश्यकता पड़ेगी। इसके लिए उप्र पर्यटन विभाग सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करेगा। सुप्रीम कोर्ट जाने से पूर्व विभाग सभी प्रक्रियाएं पूरी कर लेना चाहता है। 24 जुलाई को आर्किटेक्ट द्वारा स्थलीय निरीक्षण किया जाना है। निरीक्षण में पर्यटन विभाग के साथ ही वन विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

उपनिदेशक पर्यटन अमित ने बताया कि अमरूद का टीला में मल्टीलेवल पार्किंग के निर्माण को पेड़ काटने की अनुमति के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की जानी है। शिल्पग्राम के लिए भी दायर होगी याचिका

शिल्पग्राम में मल्टीलेवल पार्किंग के काम को जनवरी, 2016 में शिलान्यास किया गया था। शुरुआत में आर्किटेक्ट ने पेड़ों को पार्किंग के डिजाइन में शामिल कर लिया था। उसने पेड़ काटने की आवश्यकता नहीं बताई थी। काम शुरू होने के बाद 11 पेड़ों को काटने की आवश्यकता जताई गई। सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई। इस पर उप्र सरकार विजन डॉक्यूमेंट तैयार कर सुप्रीम कोर्ट में जमा कर चुकी है। विभाग को पेड़ों को काटने के लिए अनुमति प्राप्त करने को नए सिरे से याचिका दाखिल करनी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस