आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा के एक स्कूल में ताले में बंद रखे 42 लैपटाप गायब हो गए। यह लैपटाप पांच साल पहले अखिलेश सरकार के दौरान छात्र-छात्राओं में वितरित होने के लिए आए थे। बुधवार को स्कूल प्रबंधन ने लैपटाप को दूसरी जगह रखने के लिए कमरे का ताला खोला तो वहां खाली बैग मिले। जिससे प्रबंधन के होश उड़ गए। उसने मामले की जानकारी तहसीलदार और पुलिस को दी। मामले में एसएसपी ने जांच के निर्देश दिए हैं।

सनसनीखेज मामला आगरा जिला मुख्यालय के सामने स्थित होलमैन स्कूल का है। यहां परिसर में बने एक कक्ष में अगस्त 2016 में 42 लैपटाप रखे गए थे। उस समय वहां पर पुलिस की गारद भी तैनात थी। यह लैपटाप तत्कालीन अखिलेश सरकार द्वारा छात्र-छात्राओं में वितरित करने के लिए उद्देश्य से आए थे। स्कूल प्रबंधन के अनुसार कुछ समय बाद पुलिस की गारद वहां से हट गई। जिस कक्ष में लैपटाप रखे गए थे। उसकी चाबी स्कूल के ही एक स्टाफ के पास रहती है।

स्कूल प्रबंधन ने प्रायोगिक परीक्षाओं की तैयारी के मद्देनजर बुधवार को जिस कक्ष में लैपटाप रखे थे। उसे खुलवाया, जिससे कि इन लैपटाप को दूसरे कक्ष में रखा जा सके। प्रबंधन के लैपटाप के बैग उठाए तो वह हल्के थे। इसके बाद इन बैग को चेक किया गया तो उसमें से लैपटाप गायब थे। जिससे स्कूल प्रबंधन और स्टाफ में अफरातफरी मच गई। उसने इसकी जानकारी पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों को दी। मामले में नाई की मंडी थाने में तहरीर दी गई है। एसएसपी मुनिराज ने बताया कि मामले की जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

 

Edited By: Prateek Gupta