जागरण टीम, आगरा। भाई ने सगी बहन के विरुद्ध सहित ससुरालियों पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं पुलिस ने अभियोग पंजीकृत कर जाच शुरू कर दी है।

खंदौली के बगलघूसा निवासी गोविंद पुत्र हरिशकर ने सगी बहनों पूजा और आरती का विवाह 2013 में बरहन के गांव बैनई खुर्द निवासी जगमोहन और जितेंद्र के साथ किया था। गोविंद के मुताबिक छोटी बहन आरती की विदा शादी के तीन वर्ष बाद 2016 में हुई थी। आरोप है कि ससुरालियों ने बुधवार रात आरती की गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को फंदे पर लटका दिया। सूचना पर मायका पक्ष के लोग पहुंच गए। बरहन पुलिस के मुताबिक गोविंद की तहरीर पर मृतका के पति जगमोहन, सास रचना, ससुर सुखवीर, जेठ जितेंद्र, जेठानी पूजा और देवर नरेंद्र के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोपितों की तलाश की जा रही है। धनौली के तालाब में मिला युवक का शव

जागरण टीम, आगरा। मलपुरा के गांव धनौली स्थित तालाब में युवक का शव मिला। थाना प्रभारी मलपुरा अरुण कुमार बालियान ने बताया कि मृतक की शिनाख्त 20 वर्षीय भेला पुत्र सुल्तान सिंह के रूप में की गई है। स्वजन ने बताया कि वह मानसिक रूप से विक्षिप्त था। पैर फिसलने के कारण वह तालाब में डूब गया और मौत हो गई। सूचना पर गई पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से शव बाहर निकलवाया। अरुण की मौत के जिम्मेदारों पर हो कड़ी कार्रवाई

जागरण टीम, आगरा। गुरुवार को बाह के खटीक टूला में कांग्रेस नगर अध्यक्ष अबरार अंसारी की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें जगदीशपुरा पुलिस की हिरासत में वाल्मीकि समाज के अरुण की मौत का जिम्मेदार पुलिस को ठहराया गया और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई। नगर अध्यक्ष अबरार अंसारी ने कहा कि राज्य में योगी सरकार में कानून नाम की कोई चीज नहीं रह गई है। लोगों का पुलिस से विश्वास हट रहा है। बैठक में दानिस अंसारी, जितेंद्र वाल्मीकि, प्रवीन वाल्मीकि, अरविद वाल्मीकि, सुरजीत वाल्मीकि,सुनील कुमार, राधेश्याम, वकील अल्वी, अंतराम, भागीरथ, विजय सिंह राणा आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran