आगरा, जागरण संवाददाता। घर बैठे लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने का अभी इंतजार करना होगा। एक सितंबर से इस व्यवस्था की शुरुआत होनी थी, लेकिन पायलट प्रोजेक्ट के ही सफल नहीं होने के कारण प्रक्रिया अटकी हुई है। निदेशालय स्तर से इस प्रक्रिया को प्रभावी बनाने के लिए प्रयास तेज हो गए हैं। सितंबर के अंतिम सप्ताह नहीं तो अक्टूबर के प्रथम सप्ताह से इसे शुरू करा दिया जाएगा।

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी परिवहन विभाग को दलालों से मुक्त कराने और आवेदकों का कार्यालय की लाइन में लगने का समय बचाने के लिए बदलाव करने में जुटे हुए हैं। कई व्यवस्थाओं को आनलाइन किया गया है, तो लंबी कतारें न लगें इसलिए लाइसेंस बनवाने आने वालों के लिए स्लाट की व्यवस्था की गई है। इसी क्रम में लर्निंग लाइसेंस बनवाने वालों को कार्यालय तक दौड़ न लगानी पड़े इसके लिए घर बैठे आनलाइन माध्यम से लाइसेंस जारी करने की व्यवस्था होनी थी। इसका पायलट प्रोजेक्ट बाराबंकी में अगस्त के अंतिम सप्ताह में शुरू हुआ, लेकिन खासा सफल नहीं हो सका है। इसमें कई तरह की तकनीकि समस्या आ रही हैं, जिस कारण लोगों के आवेदन स्वीकारने में अड़चन हो रही है। आधार कार्ड से लिंक नहीं हो पाना, वन टाइम पासवर्ड जनरेट नहीं हो पाना आदि मुश्किले हैं।

ऐसे कर सकेंगे प्रक्रिया घर बैठे

लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदक को आनलाइन प्रमाण पत्र अपलोड करने होंगे। इसके बाद वन टाइम पासवर्ड मोबाइल नंबर पर आएगा और आवेदक टेस्ट दे सकेंगे। इसके बाद लाइसेंस जारी होगा।

लर्निंग लाइसेंस घर बैठे बने इसके लिए फिलहाल व्यवस्था नहीं हुई है। बाराबंकी में पायलट प्रोजेक्ट चल रहा है, जैसे ही निर्देश मिलेंगे प्रक्रिया शुरू करा दी जाएगी।

प्रमोद कुमार, आरटीओ प्रशासन

Edited By: Tanu Gupta