आगरा, जागरण संवाददाता। माधव ड्रग हाउस की दुकान और गोदाम की सील खोलकर रविवार को औषधि विभाग की टीम ने स्टाक का मिलान किया। टीम 12 तरह की दवाओं के स्टाक का मिलान कर रही है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

औषधि अनुज्ञापन प्राधिकारी विक्रय, आगरा मंडल डा अखिलेश कुमार जैन ने बताया कि मुख्यालय के निर्देश पर गोगिया मार्केट, फव्वारा स्थित माधव ड्रग हाउस पर छापा मारा। संचालक नवीन अरोरा से डेका डुराबोलिन (कोरोना के मरीजों में इस्तेमाल होने वाला स्टेरायड) इंजेक्शन , एंटीबायोटिक एजीथ्रोमाइसिन, दर्द निवारण टैबलेट वावरन एसआर सहित 12 दवाओं का स्टाक मिलान कराने के लिए कहा। कुछ दवाओं के स्टाक का रिकार्ड मिला, इसकी जांच की गई। गोल्डन प्लेस के द्वितीय और तृतीय तल पर स्थित गोदाम में रखी दवाओं के स्टाक का मिलान किया जा रहा है। स्टाक का मिलान न होने पर रिकार्ड जब्त कर लिया जाएगा। टीम में औषधि निरीक्षक मथुरा अनिल आनंद और फीरोजाबाद सुनील कुमार शामिल रहे।

गर्भपात किट में भी रिकार्ड किया गया था जब्त

हरियाणा और राजस्थान में गर्भपात किट के इस्तेमाल से कन्या भ्रूण हत्या के मामले में पिछले साल माधव ड्रग हाउस का रिकार्ड जब्त किया गया था। माधव ड्रग हाउस ने करोड़ों की गर्भपात किट कंपनी से खरीद कर बिक्री की थी, रिकार्ड उपलब्ध होने पर कार्रवाई नहीं की गई थी। इसके बाद इसी साल जून में नकली डेका डुराबोलिन इंजेक्शन मामले में भी माधव ड्रग हाउस का नाम सामने आया था, उसी ने शिकायत की थी। इससे पहले भी अन्य राज्यों की टीम जांच कर चुकी हैं। 

Edited By: Tanu Gupta