आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण की रफ्तार घट रही हैं और नए केस भी कम आ रहे हैं। संक्रमण को पूरी तरह समाप्त करने के लिए लाकडाउन को बढ़ा लोगों को घरों में रोकने का प्रयास है। इसके बाद भी कुछ लोग आवश्यक कार्य तो कुछ बिना कार्य के ही बाहर निकल रहे हैं। बाहर निकलने वालों की लापरवाही और सिटी बस के चालक, परिचालकों की अनदेखी से संक्रमण विस्तार होने की आशंका बनी हुई है। बसों में निर्धारित क्षमता के बराबर और उससे अधिक सवारियां बैठाई जा रही हैं, जिससे कोविड नियमों का पालन नहीं हो पा रहा है।

एमजी रोड पर भगवान टाकीज चौराहे से आगरा कैंट रेलवे स्टेशन तक सिटी बसों का संचालन होता है। लाकडाउन में सख्त निर्देश हैं कि बसों में निर्धारित सीट क्षमता से आधे यात्रियों को बैठाना है। मास्क लगाकर आने वालों को ही प्रवेश दिया जाएगा। अगर किसी ने मुंह से मास्क हटाया ताे उसे उतार दिया जाएगा। बस के परिचालक द्वारा इन नियमों का पालन नहीं कराया जा रहा है। एमजी रोड पर इस समय प्रतिदिन 15 से 20 बसें संचालित हो रही हैं। हर बस को पूरी भरकर ही संचालित किया जा रहा है, जिससे संक्रमण बढ़ने की आशंका बनी हुई है। बैठने वाले भी लापरवाह रवैया अपनाए हुए हैं, उनको भी संक्रमण से भय नहीं है। एमजी रोड पर सेंट जोंस चौराहे के निकट सिटी बस पूरी तरह भरी थी। इसमें कुछ लोगों ने मास्क नहीं लगा रखा था, तो जिन्होंने लगा रखा था उसमें से भी कुछ ने उसे गले तक कर लिया था। हर सीट पर सवारियां बैठी थीं। ऐसा ही कुछ देर बाद आई दूसरी बस का भी हाल था। सिटी बस के एआरएम राशिद अली खान ने बताया कि सभी बस चालक, परिचालकों को कोविड नियमों काे सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। निर्धारित से आधी सवारियां भरने के कारण हमारा लोड फैक्टर भी घट गया है। अगर कोई लापरवाही करेगा तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप