आगरा, जागरण संवाददाता। बैंक लूट के बाद गुर्गों के साथ फरार हुए मुकेश ठाकुर की गिरफ्तारी पुलिस के लिए चुनौती बन गई है। राजस्थान में कई स्थानों पर पुलिस ने दबिश दी। मगर, अभी तक मुकेश ठाकुर और उसके गुर्गे हाथ नहीं आए हैं। अब पुलिस को जानकारी हुई है कि मुकेश ठाकुर गैंग के साथ चंबल के बीहड़ में पहुंच गया है। उसकी गिरफ्तारी को अब पुलिस बीहड़ के ठिकानों पर दबिश दे रही है।

छत्ता क्षेत्र के काला महल में 13 फरवरी की रात को रामा ट्रेडर्स के कर्मचारी रामचंद्र कुकरेजा को गोली मारी गई थी। इसके बाद 15 फरवरी को थाना इरादतनगर क्षेत्र में केनरा बैंक में लूट हुई थी। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि दोनों घटनाओं के सीसीटीवी फुटेज पुलिस को मिले थे। इनके आधार पर बदमाशों की पहचान हो गई थी। दोनों घटनाओं में धौलपुर के जारगा निवासी मुकेश ठाकुर का नाम सामने आया। वारदात में उसके गुर्गे अजीत और मोनी शामिल रहे थे। इन पर एसएसपी बबलू कुमार ने 25-25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित कर दिया था। पुलिस ने मुकेश ठाकुर की तलाश के धौलपुर के जारगा और बाढ़ी, बसेड़ी में कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन मुकेश ठाकुर और उसके साथी हाथ नहीं आए। शनिवार को पुलिस ने मुठभेड़ में हरिओम बघेल को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद अब मुकेश ठाकुर की तलाश तेज हो गई है। अब पुलिस को जानकारी मिली है कि मुकेश ठाकुर मध्यप्रदेश क्षेत्र में चंबल के बीहड़ में पहुंच गया है। उसकी गिरफ्तारी को मध्यप्रदेश पुलिस से भी मदद ली जा रही है। वह पूर्व में मध्यप्रदेश में भी वारदातें कर चुका है। अब मुकेश ठाकुर और उसके गुर्गों की गिरफ्तारी को पुलिस की दो टीम वहां डेरा जमाए हैं।

हरिओम की जेल में मुकेश ठाकुर से हुई दोस्ती

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि हरिओम बघेल वर्ष 2012 में शाहगंज क्षेत्र में हुई एक हत्या के मामले में जेल गया था। वह एक मामले में धौलपुर जेल गया था। वहां उसकी मुलाकात मुकेश ठाकुर से हो गई। रिहाई के बाद मुकेश के साथ अपराध कर रहा था। पूर्व में वह बमरौली अहीर के लाखन यादव का साथी रहा है। बाद में सोहल्ला निवासी बंटी यादव के साथ आ गया था। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021