आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना की चेन ब्रेक हो गई है। कोरोना के सक्रिय केस 58 पहुंच गए हैं। ये मार्च के बाद सबसे कम केस हैं। अब अस्पताल में 12 मरीज भर्ती हैं। वहीं, 45 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। ये मरीज अपने घर पर रहकर इलाज करा रहे हैं।

कोरोना का पहला केस मार्च में आया था। अप्रैल में श्री पारस हास्पिटल भगवान टाॅकीज में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने स कोरोना की चेन बन गई और 60 से अधिक लोग संक्रमित हुए। इसके साथ ही जमात से जुडे हुए लोगों के संक्रमित होने से कोरोना के केस तेजी से बढे। मई और जून में सब्जी विक्रेता, प्रोविजनल स्टोर के संचालकों में कोरोना की पुष्टि हुई। इससे केस तेजी से बढने लगे। सितंबर में एक दिन में 100 से अधिक कोरोना के केस आए। कोरोना की चेन बनने से एक ही परिवार के पांच से अधिक लोग संक्रमित हुए। अक्टूबर और नवंबर में कोरोना के केस कम होने लगे। दिसंबर में मरीजों की संख्या कम हो गई। जनवरी में कोरोना की चेन ब्रेक होने लगी है। इससे हर रोज पांच से कम केस आ रहे हैं। सीएमओ डा आरसी पांडे ने बताया कि कोरोना की नई चेन नहीं बन रही है। इससे केस में कमी आई है। मगर, लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। मास्क और शारीरिक दूरी का पालन करें।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप