आगरा, जागरण संवाददाता। शक्तिवर्धक दवा के नाम पर आयुर्वेदिक चूरन बेचने के आरोपित के खिलाफ पुलिस ने धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया। गोदाम से बरामद दवाओं का नमूना जांच के लिए क्षेत्रीय यूनानी अधिकारी द्वारा लैब भेजा जाएगा।

कालिंदी विहार की शिवानी धाम कालोनी में पुलिस ने पप्पन के मकान पर छापा मारा था। पप्पन द्वारा किराए पर दिए गए गोदाम से कई भरी और खाली शीशियां बरामद की थीं। इंस्पेक्टर एत्माद्दौला संजय कुमार त्यागी ने बताया कि मौके से शक्तिवर्धक दवाओं के नाम पर आयुर्वेदिक चूरन बेचने के आरोपित मनोज यादव निवासी दुर्गा नगर को गिरफ्तार किया था।बरामद शक्तिवर्धक दवाइयों की जांच के लिए क्षेत्रीय यूनानी अधिकारी डाक्टर जुगल किशाेर राणा और उनकी टीम को भी बुलाया गया था। टीम को बरामद दवाओं पर मैन्युफैक्चरिंग एवं एक्सपायरी की तारीख, लाइसेंस नंबर नहीं था। इससे उनके नकली होने की आशंका जताई गई ।

पुलिस की पूछताछ में आरोपित मनोज यादव ने बताया कि उसने चार महीने पहले ही उसने यह काम शुरू किया था। उसने कालिंदी विहार में किराए पर गोदाम लिया था। वह शाहगंज की एक दुकान से आयुर्वेदिक चूरन आदि 80 रुपये में लेकर आता था। उन्हें खुद के ब्रांड के नाम से बनाई शीशी में भरकर शक्तिवर्धक दवाओं के नाम से 1200 रुपये बेचता था। इंस्पेक्टर संजय कुमार त्यागी ने बताया कि आरोपित मनोज यादव के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किय है। उसे रविवार को जेल भेज दिया।

इंटरनेट मीडिया के माध्यम से करता था प्रचार

आरोपित मनोज ने पुलिस को बताया कि वह शक्तिवर्धक दवाओं का प्रचार-प्रसार इंटरनेट मीडिया के विभिन्न माध्यमों से करता था।इससे दवाओं की बाजार में खपत बढ़ गई थी। उसे बाजार में अच्छा मुनाफा मिल रहा था। ग्राहक उसे वाट्सए पर आनलाइन माल मंगाने लगे थे।काम बढ़ने पर उसने अपने यहां दो-तीन कर्मचारी रखे हुए थे।

शाहगंज की दुकान से जानकारी करेगी टीम

क्षेत्रीय यूनानी अधिकारी और उनकी टीम शाहगंज की उस दुकान से जानकारी करेगी, जहां से मनोज यादव आयुर्वेदिक चूरन लाता था। इससे कि यह जानकारी की जा सके कि वहां से क्या खरीदकर शक्तिवर्धक दवाओं के नाम पर बेच रहा था। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप