आगरा, जागरण संवाददाता। दवाओं के अवैध धंधे के लिए घर और कालेज को दवा कारोबारी गोदाम बना रहे हैं। किराए पर कमरा लेकर दवाओं का अवैध कारोबार किया जा रहा है। औषधि विभाग की टीम ने दवा कारोबारी को किराए पर कमरा देते समय लाइसेंस की कापी लेना अनिवार्य कर दिया है।

आगरा से कई राज्यों में दवाओं का अवैध कारोबार हो रहा है। फव्वारा दवा बाजार में सख्ती होने के बाद दवा कारोबारियों ने कमला नगर, बल्केश्वर, सिकंदरा, यमुना पार में किराए पर कमरा लेकर गोदाम बना लिए हैं। यहां दवाएं आती हैं, इन्हें अलग- अलग राज्यों में ट्रांसपोर्ट और हाकर के माध्यम से सप्लाई कर दिया जाता है। ऐसे में औषधि विभाग की टीम ने गुरुवार को एसएस स्कूल आफ एजुकेशन पर छापा मारकर दवाओं का जखीरा जब्त किया है। औषधि निरीक्षक नरेश मोहन दीपक ने बताया कि किराए का कमरा लेकर दवाओं का अवैध कारोबारिया किया जा रहा है, इस तरह के मामलों में कार्रवाई की जा रही है।

औषधि विभाग की टीम की कार्रवाई

अक्टूबर 2019 में ग्वालियर नारकोटिक्स की टीम ने फ्री गंज से जब्त की थी करोड़ों की नशीली दवाएं।

नशीली और गर्भपात किट के अवैध कारोबार पर 2020 में हुई कार्रवाई।

25 जुलाई को विक्की अरोरा के प्रोफेसर कालोनी स्थित गोदाम पर छापाए सवा लाख की नशे की दवाएं जब्त।

26 जुलाईए जय हनुमान फार्माए संजय प्लेस पर छापाए खाली मिला गोदाम।

28 जुलाई प्रोफेसर कालोनी में विक्की अरोरा के दूसरे गोदाम पर छापाए 15 करोड़ की दवाएं मिलीं।

5 अगस्त को विक्की अरोरा के तेज नगर कमला नगर स्थित घर से 300 कार्टन दवाएं जब्त।

15 अगस्त को आजमगढ़ में कफ सीरप का पकडे़ गए।

आठ दिसंबर को माधव ड्रग हाउस और एके एंटरप्राइजेज पर गर्भपात किट की अवैध बिक्री की आशंका पर छापा मारा गया।

2021 में हुई कार्रवाई

लोहिया नगर बल्केश्वर में घर पर छापा मारकर मित्तल मेडिकल स्टोर के अवैध गोदाम से दवाएं जब्त की गईं 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप