आगरा, अली अब्बास। मिशन शक्ति अभियान के तहत महिलाओं और बालिकाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करने की मुहिम अक्टूबर में शुरू हुई थी। इसके साथ ही पुलिस ने महिलाओं और बालिकाओं की आबरू पर हाथ डालने वालों के खिलाफ भी निरोधात्मक कार्रवाई का अभियान छेड़ रखा है। महिला अपराध संबंधी मामलों में आरोपित 100 से ज्यादा लोगों के खिलाफ पुलिस ने गुंडा एक्ट और गैंगस्टर की कार्रवाई की है ।

आगरा में अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में मिशन शक्ति अभियान का शुभारंभ किया गया था। इसका मकसद महिलाओं और बालिकाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना है। जिले में 28 एंटी राेमियो स्क्वायड की गाड़ी चल रही हैं। इसमें एक दारोगा और दो महिला सिपाही तैनात हैं। इसके साथ ही 42 थानों में महिला हेल्प डेस्क स्थापित की गई हैं। इसका मकसद महिलाओं के खिलाफ हाेने वाली हिंसा और अपराध को रोकना है। पुलिस ने महिलाओं और बालिकाओं से छेड़छाड़, लूटपाट और उनकी हत्या करने के आरोपितों को पुलिस चिन्हित करके उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है।

इसलिए मनाया जाता है दिवस

International Day for the Elimination of Violence against Women संयुक्त राष्ट्र, महासभा ने वर्ष 1999 में 25 नवंबर को महिलाओं के खिलाफ हिंसा को खत्म करने के लिए अंतररराष्ट्रीय दिवस के रूप में नामित किया है। दिन का आधार इस तथ्य के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए है कि दुनिया भर में महिलाएं दुष्कर्म, घरेलू हिंसा और हिंसा के अन्य रूपों के अधीन हैं ।

वर्ष 2020 में महिलाओं के साथ हुए अपराध के आंकड़े

माह हत्या दहेज हत्या दुष्कर्म छेड़छाड़ अपहरण दहेज उत्पीड़न

जनवरी 2 7 7 13 14 19

फरवरी 1 2 6 26 32 32

मार्च 2 8 8 18 30 16

अप्रैल 3 10 3 3 2 7

मई 2 3 1 9 15 5

जून 2 8 2 19 22 17

जुलाई 0 4 6 16 12 20

अगस्त 3 9 5 12 19 16

महिलाओं और बालिकाओं के साथ होने वाले अपराधों को रोकने के लिए पुलिस प्रतिबद्ध है । छेड़छाड़ और लूटपाट आदि घटनाओं के आरोपिताें को चिन्हित करके उनके खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई कर रही है ।

बबलू कुमार एसएसपी 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021