आगरा, जागरण संवाददाता। ताजनगरी में घर के सामने से ही खेलती पांच साल की मासूम बच्ची के लापता होने पर स्वजन अनहोनी की आशंका पर परेशान हो गए। पुलिस को उसके गायब होने की जानकारी दी तो वह उसने बच्ची की तलाश शुरू कर दी ।बच्ची को थानों में वाट़्सएप गुप्स पर बनाए गए डिजीटल वालंटियर की मदद से खोज निकाला । उसे माता-पिता को सौंपा तो उनके चेहरे पर खुशियां लौट आयीं ।मासूम के माता-पिता ने पुलिस को धन्यवाद दिया ।

मामला शमसाबाद के गोपालपुरा के वार्ड 24 का है। गुरुवार की शाम को घर के बाहर खेलती पांच साल की बालिका वैष्णवी अचानक लापता हो गयी। बेटी के इस तरह लापता होने पर पिता सुशील और परिवार के लोग उसे अपने स्तर से तलाशने में जुट गए। मासूम का सुराग नहीं लगने पर स्वजन अनहोनी की आशंका से परेशान थे । उन्होंने थाने पहुंचकर इसकी जानकारी पुलिस को दी । मामला एसपी ग्रामीण प्रमोद कुमार की जानकारी में आने पर उन्होंने तीन टीमों को बनाकर उसकी तलाश में लगाया गया।

पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरों को चेक करना शुरू किया गया । इसके साथ ही उसकी फोटो थानों द्वारा बनाए गए डिजीटल वालंटियर ग्रुप्स पर पोस्ट कर दिया गया। वालंटियर से मासूम का पता लगाने पर इसकी जानकारी देने की कहा । इसके साथ ही उसके साथ खेलते अन्य बच्चों से जानकारी की । शमसाबाद थाने के डिजीटल वांलटियर अपने-अपने इलाकों में सक्रिय हो गए । एक वालंटियर ने मासूम वैष्णवी के भनपुरा गांव में सड़क किनारे बने एक अस्पताल के पास ट्यूबवेल पर होने की जानकारी दी । पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्ची को बरामद कर लिया । मासूम ने बताया कि वह खेलते समय रास्ता भटक कर वहां आ गयी थी । पिता सुशील ने पुलिस की तत्परता से बेटी के बरामद होने पर उसे धन्यवाद दिया । 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस