आगरा, जागरण संवाददाता। केंद्रीय सचिव आवास एवं शहरी मंत्रालय डीएस मिश्रा 30 अक्टूबर को आगरा आ रहे हैं। वह यहां आगरा स्मार्ट सिटी, आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा करेंगे। केंद्रीय सचिव के साथ प्रमुख सचिव, आवास दीपक कुमार भी होंगे। आला अफसरों के आगमन को देखते हुए नगर निगम और जिला प्रशासन के अफसरों की नींद उड़ गई है।

कैसे छिपाएंगे गंदगी के दाग 

नगर निगम के अफसरों की लापरवाही के चलते डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन ठीक से नहीं हो रहा है। इससे सड़काें और गलियों में कूड़ा बिखरा पड़ा हुआ है। केंद्रीय सचिव शहर का जायजा लेंगे। ऐसे में निगम प्रशासन की पोल खुलने से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

सीवर मार रहा है उफान 

संजय प्लेस हाे या फिर जयपुर हाउस और कमला नगर। इन क्षेत्रों में सीवर की समस्या सबसे अधिक है। सीवर का गंदा पानी गलियों में बह रहा है। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

नहीं भरे गए हैं गड्ढे 

प्रदेश सरकार ने 15 अक्टूबर तक शहर को गड्ढामुक्त करने के आदेश दिए थे लेकिन अभी तक निगम प्रशासन ने इस दिशा में ठोस कदम नहीं उठाया है। इंजीनियरों ने गलत तरीके से एस्टीमेट तैयार किया है।

प्रमुख रोड पर हो रही है खोदाई

जीवनी मंडी रोड, आवास विकास सेक्टर चार, जगदीशपुरा रोड, पचकुइयां रोड, सिकंदरा-बाेदला रोड सहित अन्य सड़कों पर खोदाई चल रही है। कहीं सीवर तो कहीं पानी की लाइन बिछ रही है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस