आगरा, जागरण संवाददाता। प्रेमिका को गर्भवती हालत में छोड़कर प्रेमी विदेश चला गया। दो साल बाद लौटा ताे प्रेमिका को अपनाने के लिए उसके सामने धर्म परिवर्तन की शर्त रख दी। प्रेमिका का मजहब बदलवाने के बाद उससे निकाह किया। दो दिन बाद ही दहेज की मांग को लेकर घर से निकाल दिया। मामला जानकारी में आने पर बजरंग दल ने शुक्रवार को सदर थाने पर प्रदर्शन किया।

जगदीशपुरा क्षेत्र निवासी युवती के अनुसार उसकी शादी आठ साल पहले कानपुर के युवक से हुई थी। पति ने दहेज के चलते उसे घर से निकाल दिया। मायके में रहने के दौरान वर्ष 2015 में घर के सामने सैलून में काम करने वाले युवक से मुलाकात हो गयी। उससे दोस्ती आैर प्यार हाे गया।प्रेमी दूसरे मजहब का था। उसने शादी का वादा करके उससे संबंध बनाए। दो बार उसका गर्भपात भी कराया। तीसरी बार गर्भवती होने पर उसने शादी

दबाव बनाया।

प्रेमी ने अलग मकान लेकर रहने के बहाने उससे 55 हजार रुपये और जेवरात ले लिए। बाद में उसे पता चला कि प्रेमी सऊदी अरब चला गया है।उसने प्रेमी के स्वजनों को अपने संबंधों के बारे में बताया तो उन्होंने मारपीट करके भगा दिया। पिछले महीने उसे प्रेमी के एक दोस्त से पता चला कि वह सऊदी अरब से लौट आया है। वह बच्चे को लेकर उससे मिलने गयी। युवती का आरोप है कि प्रेमी और उसके परिवार के लोगों ने मजहब बदलने पर निकाह का अाश्वासन दिया। उसने मजहब बदलकर 21 जून को प्रेमी से निकाह कर लिया। वह उसे और बच्चे को अपने घर लेकर गया। प्रेमी ने 23 जून को कम दहेज देने की कहकर उसे घर से निकाल दिया। अब उसे रखने के बदले मे दो लाख रुपये मांग रहा है। शहीद नगर पुलिस चौकी पर शिकायत की लेकिन, सुनवाई नहीं हुई। शुक्रवार को पीड़िता के साथ बजरंग दल के पदाधिकारी बंटी ठाकुर, जितेंद्र, शुभम, पप्पू ठाकुर अादि सदर थाने पहुंचे। उन्होंने मामले में कार्रवाई की मांग की। इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार ने बताया कि पति-पत्नी में विवाद को सुलझाने की कोशिश की जा रही है। दोनों परिवार के लोगों को बुलाया गया है। 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस