आगरा, जागरण संवाददाता। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की बोर्ड परीक्षाओं में इस बार आगरा से 10वीं और 12वीं के कुल 25370 परीक्षार्थी हिस्सा ले रहे हैं। पिछले साल के मुकाबले इस बार बोर्ड परीक्षार्थियों की संख्या में इजाफा हुआ है। पिछले साल बोर्ड परीक्षा में 23970 परीक्षार्थी बैठे थे। इस साल 1400 परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ी है। शनिवार को पहले दिन सीबीएसई 10वीं और 12 वीं में वोकेशनल विषयों की परीक्षा थी। आगरा में मुख्य परीक्षाएं 20 फरवरी से हैं।

अंतिम समय में केवल रिवीजन करें

20 फरवरी से आगरा मेंं शुरू हो रही बोर्ड परीक्षाओं को लेकर हर परीक्षार्थी परेशान है। 10वीं और 12वीं के छात्र- छात्राओं ने पूरे साल तैयारी की है। अब परीक्षा की बारी है। परीक्षा के दबाव को कम करने के लिए स्कूलों के प्रधानाचार्यों और निदेशकों से जागरण ने खास बात की। उनसे लिए विद्यार्थियों के टिप्स लिए -

होली पब्लिक स्कूल के निदेशक संजय तोमर कहते हैं कि परीक्षार्थी चिंता छोड़कर परीक्षा में पूरी तल्लीनता से शिरकत करें। यह विश्वास रखें कि अब तक आपने जो कुछ पढ़ा है, वह सब अच्छे से परीक्षा में लिखेंगे। इससे आपको बेहतर अंक मिलेंगे। वे कहते हैं कि जिंदगी में हमें समय-समय पर विभिन्न परीक्षाओं का सामना करना पड़ता है, जैसे- स्कूल के लिए, बोर्ड परीक्षा के लिए, उच्च शिक्षा में प्रवेश के लिए, नौकरी पाने के लिए, पदोन्नति के लिए। इन सभी से हमें घबराना नहीं चाहिए। बल्कि युवाओं को इन चुनौतियों का साहस और बुद्धिमानी से सामना करना चाहिए, ताकि भविष्य में सफलता मिल सके।

गायत्री पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या कल्याणी दीक्षित कहती हैं कि बोर्ड परीक्षा करीब डेढ़ महीने तक चलेगी। बीच में ब्रेक भी मिलेगा। इस दौरान विद्यार्थियों को पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए। समय का सदुपयोग कीजिए। परीक्षा के दौरान दूसरों से अपनी तुलना न करें। मन विचलित करने वाले डिवाइस से दूर रहें। पौष्टिक आहार लेते रहें। देर रात तक न पढ़कर अपनी नींद पूरी करें, जिससे शरीर स्वस्थ रहे। परीक्षा के दिन परीक्षा केंद्र पर पहुंचने के लिए घर से समय से थोड़ा पहले निकलें। पूरा प्रश्नपत्र ध्यान से पढ़कर ही अपनी रणनीति बनाएं। इसके बाद ही उत्तर लिखना शुरू करें।

जीडी गोयंका पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य पुनीत वशिष्ठ कहते हैं कि सीबीएसई के परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र पर पहुंचने से लेकर परीक्षा में उत्तर लिखने में टाइम मैनेजमेंट का ध्यान रखना चाहिए। परीक्षा केंद्रों पर सुबह साढ़े नौ बजे पहुंचने की कोशिश करें। 10 बजे उत्तरपुस्तिका मिलेगी। 10 बजे के बाद किसी भी छात्र को परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं मिलेगा। सीबीएसई की ओर से छात्रों को 15 मिनट का समय रीङ्क्षडग के लिए मिलता है। छात्रों को इसका उपयोग प्रश्नपत्र को पढऩे में करना चाहिए। इस पंद्रह मिनट में वह प्रश्नों का चयन कर लें कि किस प्रश्न का उत्तर लिखना है। परीक्षा में छात्रों को किसी भी प्रश्न को छोडऩा नहीं चाहिए। आत्मविश्वास के साथ उत्तर लिखने की कोशिश करें। दूसरे छात्र की तैयारी को देखकर अपना संयम न खोएं। सुबह ध्यान लगाने से मन एकाग्रचित होता है। अगर किसी तरह की घबराहट हो रही है तो गहरी सांस लें। फिर विश्वास के साथ परीक्षा देने में जुट जाएं। अब परीक्षा शुरू हो रही है, इसलिए अंतिम समय में केवल महत्वपूर्ण प्रश्नों को रिवाइज करना चाहिए।

इन बातों का भी रखें ध्यान

- परीक्षा में केवल ब्लू, रायल ब्लू बाल पेन, जैल पेन या फाउंटेन पेन का प्रयोग करें।

- स्कूल का आइकार्ड, परीक्षा का प्रवेश पत्र, पेंसिल, ब्रश, कलर, च्योमेट्री बॉक्स आदि अपने पास रखें।

- उत्तरपुस्तिका यानी कॉपी पाने पर छात्र- छात्राएं विशेष सावधानी बरतें। अपना नाम कैपिटल में लिखें। हर बॉक्स में एक लेटर लिखें। नाम और सरनेम के बीच मे एक बॉक्स छोड़कर लिखें।

- इस बार आठ अंक में रोल नंबर भरना होगा। पहले सात अंक का रोल नंबर आता था। परीक्षार्थी को अपने रोल नंबर का पहला अंक सबसे पहले बाक्स के बाहर लिखना होगा।

- उत्तरपुस्तिका में निर्धारित जगह के अलावा कहीं भी नाम, रोलनंबर या कोई भी चिह्न ना बनाएं। अगर ऐसा करते हैं तो यह अनफेयर माना जाएगा। 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस