जागरण प्रतिनिधि, बाह: खेड़ा राठौर के दो गांवों में बुधवार रात को हुई फायरिंग के बाद गुरुवार को मामला और गर्मा गया। एक गांव के लोगों ने दूसरे गांव के एक युवक को पकड़कर सरियों से पीटकर लहूलुहान कर दिया। उसके बाद ट्यूबवेल की छत से फेंककर भाग गए। युवक हालत गंभीर बताई गई है। तनाव के मद्देनजर गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है।

घटना खेड़ा राठौर थाना क्षेत्र के कीलपुरा गांव की है। गुरुवार सुबह 8 बजे के करीब भोपे का पुरा (जोजलीपुरा) गांव निवासी 20 वर्षीय बंटू सिंह पुत्र बहादुर सिंह दूध के लेने को कीलपुरा गांव गया था। आरोप है कि इसी दौरान उदयपुर कलां गांव निवासी सौदान सिंह, बलवीर सिंह, धर्मवीर, धर्मेंद्र और उपेंद्र सरिया, बंदूक और तमंचे से लैस होकर आ गए। बंटू अपनी जान बचाने को कीलपुरा गांव के पास बनवारी लाल के नलकूप की कोठरी में घुस गया। आरोप है कि हमलावरों ने नलकूप की कोठरी के दरवाजे को तोड़कर उसे पकड़ लिया और सरिया, हॉकियों से पिटाई कर लहूलुहान कर दिया। उसके बाद छत में ले जाकर उसे नीचे फेंक दिया। लोगों को आता देख हमलावर फायरिंग करते हुए भाग निकले। सूचना पर पहुंची पुलिस और परिजनों ने घायलवस्था में बंटू को आगरा भेज दिया। यहां अस्पताल में उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। घटना के बाद दोनों गांवों में तनाव का माहौल है। सीओ बाह रत्‍‌नेश चतुर्वेदी सर्किल के फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। तनाव के मद्देनजर दोनों गांवों में पीएसी तैनात कर दी गई है।

मामूली विवाद में सुलगी आग

बुधवार रात भोपे का पुरा गांव निवासी दुष्यंत और उदयपुर कलां गांव के धर्मवीर सिंह के बीच टावर को लेकर विवाद हो गया था। उसके बाद दोनों ओर से जमकर फायरिंग हुई थी। पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने के कारण दोनों पक्ष एक बार फिर भिड़ गए।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर