अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close

जागरण से खबरें

  • नई परियोजनाएं तब पहले पुरानी पूरी हों जब

    Business3 years ago

    नई दिल्ली [संजय सिंह]। अधूरी परियोजनाओं के बोझ से रेलवे कराह रही है। आजादी के बाद सैकड़ों सर्वे का एलान हुआ मगर काम कुछ नहीं हुआ। वहीं, करीब साढ़े तीन सौ चालू परियोजनाएं धन की कमी से घिसट रही हैं। इसके बावजूद हर साल रेल बजट मे...

    और पढ़ें »
  • युवाओं को रोजगार के नए मौके देगा रेल बजट

    Business3 years ago

    नई दिल्ली [संजय सिंह]। आम चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस से नाराज युवा मतदाताओं को पार्टी की ओर आकर्षित करने के लिए सरकार युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के मौके तलाशने में जुट गई है। इस सिलसिले में आम बजट के साथ ही रेल बजट में भी ...

    और पढ़ें »
  • चाहिए रेलवे की भलाई तो बढ़ानी होगी कमाई

    Business3 years ago

    नई दिल्ली [संजय सिंह]। बढ़ता खर्च और घटती कमाई रेलवे की सबसे बड़ी समस्या है। इसकी सौ रुपये की कमाई में

    और पढ़ें »
  • सुखद अहसास से भरा होगा 'अनुभूति' का सफर

    Business3 years ago

    नई दिल्ली [जाब्यू]। रेल बजट में जिन अनुभूति लक्जरी बोगियों का एलान किया गया है वे आम जनता को चिढ़ा सकती हैं। इसीलिए इन्हें शुरू में राजधानी, शताब्दी और दूरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों में लगाने का प्रस्ताव है। हर ट्रेन में एक अन...

    और पढ़ें »
  • चंडीगढ़ शताब्दी में लगाया जाएगा पहला अनुभूति कोच

    Business3 years ago

    नई दिल्ली। चंडीगढ़ शताब्दी भारत की पहली ऐसी ट्रेन होगी, जिसमें विशिष्ट 'अनुभूति' कोच लगाए जाएंगे। अनुभूति विशेष वातानुकूलित आरामदायक श्रेणी का डिब्बा है। इसके बारे में इस साल के रेल बजट में घोषणा की गई थी। इस अनुभूति कोच की स...

    और पढ़ें »
  • फिर होगी बिजली महंगी, तैयार रहें आप

    Business3 years ago

    आम जनता को एक बार बढ़ी हुई बिजली दरों के लिए अपने आपको तैयार कर लेना चाहिए। विदेशी कोयले पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने के साथ साथ रेल बजट में माल भाड़े में वृद्धि करने के बाद से इसकी संभावनाएं और अधिक बढ़ गई हैं। वहीं इनकी वजह से ही ...

    और पढ़ें »
  • 'जीवनरेखा' को नए रूप की दरकार

    Business3 years ago

    आम जनता की सुविधाओं के लिहाज से हमारा रेल तंत्र काफी पिछड़ा नजर आता है। आम यात्रियों के लिए न तो हमारी ट्रेनों में पर्याप्त गति है और न ही स्तरीय सुख-सुविधाएं। यही हाल स्टेशनों तथा प्लेटफार्मो का भी है, जहां आने और जाने वाली ट...

    और पढ़ें »
  • इन्हें है समय से पहुंचाने का जुनून

    Business3 years ago

    दृश्य एक एक व्यक्ति को अपनी मंजिल पर पहुंचने के लिए ट्रेन पकड़नी है। समय कम है। ट्रेन छूटने का निर्धारित समय होने को है फिर भी वह व्यक्ति आश्वस्त दिख रहा है। दृश्य दो ट्रेन का समय हो चुका है। व्यक्ति की चिंता उसके माथे पर स्...

    और पढ़ें »
  • उड़नछू ट्रेनों की दुनिया में कहीं नहीं हैं हम

    Business3 years ago

    विकसित देशों में यात्री ट्रेनों की औसत रफ्तार 200 किमी है, जबकि अभी भी हम 150 किमी से ऊपर नहीं जा सके हैं। व्यवहार में तो हमारी राजधानी व शताब्दी जैसी प्रीमियम ट्रेनें भी 120 किमी की रफ्तार से चलती हैं। हालांकि हमने छह साल पह...

    और पढ़ें »
  • युवाओं को रोजगार के मौके देगा रेल बजट

    Business3 years ago

    आम चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस से नाराज युवा मतदाताओं को पार्टी की ओर आकर्षित करने के लिए संप्रग सरकार युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के मौके तलाशने में जुट गई है। इस सिलसिले में आम बजट के साथ ही रेल बजट में भी विशेष प्रावधान क...

    और पढ़ें »

ज्यादा पठित