नई दिल्ली, जेएनएन। दुनिया के पूर्व नंबर एक स्पेन के टेनिस स्टार राफेल नडाल ने गुरुवार को एक बेहद ही कड़ा फैसला लिया। इस साल जापान के टोक्यो में होने वाले ओलंपिक और ब्रिटेन में होने वाले विंबलडन से नाम वापस लेने की जानकारी दी है। थकान की वजह से इन दोनों प्रतिष्ठित टूर्नामेंट से नडाल ने हटने का फैसला लिया। यह फैसला उनको चाहने वालों के लिए बेहद ही चौंकाने वाला था।

पिछले हफ्ते ही नडाल और दुनिया के नंबर एक टेनिस स्टार सर्बिया के नोवाक जोकोविक के बीच मुकाबला खेला गया था। सेमीफाइनल के इस मैच में नडाल को हार का सामना करना पड़ा था। पहली बार ऐसा हुआ था जब नडाल जिनको क्ले कोर्ट का बादशाह माना जाता है उनको इस तरह से सेमीफाइनल में हार मिली हो। जोकोविक ने फाइनल में पहुंचे ग्रीस के 22 साल के स्टेफानोस सितसिपास को 6-7, 2-6, 6-3, 6-2, 6-4 मात देकर अपना 19वां ग्रैंड स्लैम खिताब हासिल किया।

एएनआइ की खबर के मुताबिक नडाल ने गुरुवार को ही ओलंपिक और बिंबलडन से नाम वापस लेने की घोषणा की और इस बारे में अपनी वजह बताई। उन्होंने कहा, फ्रेंच ओपन और बिंबलडन के बीच महज दो हफ्तों का ही फासला है। मेरे शरीर के लिए इस तरह से इतनी जल्दी तैयार होना आसान नही हो पाता। खासकर क्ले कोर्ट पर जैसे सेशन होते हैं उसके बाद तो बिल्कुल भी नहीं ।  

Edited By: Viplove Kumar