पेरिस, रायटर। कोरोना का टीकाकरण नहीं कराने वाले विश्व के नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविक की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं और आस्ट्रेलियन ओपन के बाद फ्रेंच ओपन में हिस्सा लेने के लिए टीकाकरण कराना जरूरी हो सकता है, जिससे उनका इस टूर्नामेंट में भी हिस्सा लेना संदिग्ध नजर आ रहा है।

जोकोविक कोरोना टीका लगवाने के खिलाफ हैं जिस कारण उन्हें आस्ट्रेलियन ओपन में हिस्सा नहीं लेने दिया गया। टीका नहीं लगवाने के बावजूद सर्बिया का यह खिलाड़ी आस्ट्रेलिया पहुंचा था, जहां एयरपोर्ट पर उनका वीजा रद कर उन्हें होटल में रखा गया था। हालांकि, एक अदालत ने उनका वीजा बहाल किया था, लेकिन आस्ट्रेलिया के आव्रजन मंत्री एलेक्स हाके ने विशेषाधिकार का इस्तेमाल कर जोकोविक का वीजा दोबारा रद किया।

जोकोविक ने मंत्री के फैसले को अदालत में चुनौती दी थी जिसे तीन जजों ने एकमत होकर हाके के फैसले को बरकरार रखा जिसके बाद सर्बियाई खिलाड़ी को आस्ट्रेलिया से जाना पड़ा था। इस बीच, फ्रांस के खेल मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि देश में टीका को लेकर बने नए कानून से किसी तरह की छूट नहीं मिलेगी। इस कानून को संसद की मंजूरी मिल गई है और लोगों को यहां सार्वजनिक जगह पर घूमने के लिए टीकाकरण के सर्टिफिकेट की जरूरत होगी।

मंत्रालय ने कहा, नियम बिलकुल स्पष्ट है। कानून लागू होते ही टीका पास लगाया जाएगा। यह सभी पर लागू होगा चाहे वो दर्शक हो या खिलाड़ी। फ्रेंच ओपन मई में होना है, उस वक्त शायद स्थिति बदल जाए। हमें उम्मीद है कि उस समय हालात बेहतर होंगे लेकिन यह स्पष्ट है कि कोई छूट नहीं मिलेगी। फ्रांस मंत्रालय के इस बयान के बाद यह स्पष्ट है कि मौजूदा स्थिति में जोकोविक को फ्रेंच ओपन में हिस्सा लेने के लिए कोरोना टीका लगवाना होगा नहीं तो एक बार फिर उन्हें आस्ट्रेलिया जैसी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है।

जोकोविक का हुआ भव्य स्वागत : आस्ट्रेलिया से निर्वासित होने के बाद जोकोविक दुबई के रास्ते बेलग्रेड पहुंचे, जहां एयरपोर्ट के बाहर उनके समर्थकों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। कई समर्थक हाथ में सर्बिया का झंडा लहराते हुए नजर आए और इन्होंने नारे लगाए, नोवाक आप हमारे चैंपियन हैं।

आस्ट्रेलिया के कानून के अनुसार,जोकोविक तीन साल से पहले आस्ट्रेलिया नहीं आ सकते हैं। लेकिन वहां के प्रधानमंत्री स्काट मोरिसन ने संकेत दिए कि अगले साल उन्हें आस्ट्रेलिया आने देने का कोई रास्ता हो सकता है। उन्होंने कहा, किसी व्यक्ति के लिए सही परिस्थितियों में लौटने का अवसर है। उस समय इस पर विचार किया जाएगा।

Edited By: Sanjay Savern