कैनबरा, आइएएनएस। ऑस्ट्रेलिया के पुरुष टेनिस खिलाड़ी निक किर्गियोस ने अब फ्रेंच ओपन से बाहर होने के संकेत दिए हैं। इससे पहले निक किर्गियोस ने यूएस ओपन से भी अपना नाम वापस ले लिया है। ये सब कोरोना वायरस महामारी के कारण हो रहा है, क्योंकि खिलाड़ी अपने आप को किसी भी मुश्किल में नहीं देखना चाहते। यहां तक कि एक ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट विंबलडन को कैंसिल कर दिया गया है। 

निक किर्गियोस ने कहा है, "मैं जानता हूं कि कई खिलाड़ी खेलने जा रहे हैं। मुझे नहीं लगता कि यूएस ओपन में खेल के बड़े नाम देखे जाएंगे, क्योंकि वह अपने स्वास्थ को जोखिम में डाल कर वहां खेलने नहीं जाएंगे। मैं राफेल नडाल के फैसल से हैरान नहीं हूं। मुझे लगता है कि वह फ्रेंच ओपन पर नजरे जमाए हुए हैं।"

एक समय ऐसा था जब लग रहा था कि इस साल टेनिस टूर्नामेंट शुरू नहीं होंगे, लेकिन आयोजकों ने अब टूर्नामेंटों का आयोजन करना शुरू कर दिया है। हालांकि, एक टेनिस टूर्नामेंट के दौरान दुनिया के नंबर वन टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविक खुद कोरोना संक्रमित हो गए थे। 

साल का दूसरा ग्रैंडस्लैम फ्रेंच ओपन मई के आखिरी में खेला जाना था, लेकिन कोरोना वायरस के कारण इसे टाल दिया गया और अब यह टूर्नामेंट 27 सितंबर से 11 अक्टूबर के बीच खेला जाएगा। इससे पहले यूएस ओपन 31 अगस्त से शुरू होगा। वहीं, हर साल आयोजित होने वाले विंबलडन को इस साल कोरोना वायरस के कारण कैंसिल कर दिया गया है। 

उन्होंने कहा है, "अगर मुझे खेलना होगा तो मैं निश्चित तौर पर इस समय यूरोप में खेलना चाहूंगा, लेकिन मेरे यूरोप में खेलने की काफी कम संभावना है। ईमानदारी से कहूं तो बहुत कम। मैं इस समय का उपयोग घर में रहते हुए करूंगा। ट्रेनिंग करूंगा, अपने परिवार, दोस्तों के साथ रहूंगा। जिम्मेदारी से काम लूंगा और जब तक मुझे सही नहीं लगता तब तक इंतजार करूंगा।"

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस