विकास शर्मा, चंडीगढ़। इसी महीने में 17 जून को मैं 45 साल का होने जा रहा हूं। ऐसे में मेरा सबसे बड़ा लक्ष्य यही है कि टोक्यो ओलंपिक 2020 तक मैं अपनी फिटनेस को बरकरार रख सकूं, ताकि इस बड़े खेल आयोजन में टीम इंडिया का हिस्सा बन देश के लिए पदक जीत सकूं। यह कहना है खेलरत्न, पद्मश्री और पद्मभूषण जैसे बड़े पुरस्कारों से सम्मानित हो चुके लीजेंड टेनिस स्टार लिएंडर पेस का। लिएंडर इन दिनों छुïट्टी मनाने के लिए चंडीगढ़ में हैं।

रविवार को सुबह ही पेस अपनी गोल्फ किट लेकर चंडीगढ़ गोल्फ क्लब में पहुंच गए और उन्होंने गोल्फ कोर्स के सभी 18 होल खेले। पेस ने बताया कि फिलहाल वह इंडोनेशिया के जकार्ता में होने वाली एशियाई गेम्स की तैयारी कर रहे हैं। इस टूर्नामेंट में उनका कौन जोड़ीदार होगा इसके बारे में अभी तय नहीं है, लेकिन एशियन गेम्स में आठ बार पदक जीतने के बावजूद भी वह इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने को लेकर काफी उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि इस बार भी वह पदक जीतकर देशवासियों को जश्न का मौका देंगे। 

पेस ने बताया कि वह पिछले 30 सालों से टेनिस खेल रहे हैं, लेकिन मौजूदा समय में इंडिया के पास बेहतर कई खिलाड़ी है, जोकि अंतरराष्ट्रीय टेनिस प्रतियोगिताओं में खूब धमाल मचा रहे हैं। सिंगल्स में युकी भांबरी, रामकुमार रामनाथन, सुमित नांगल, अंकिता रैना, करमन कौर और रिया भाटिया जैसे कई खिलाड़ी हैं जो खुद को साबित कर रहे हैं। 

 पेस ने बताया कि चंडीगढ़ ने उनका काफी पुराना रिश्ता है। इस शहर से कई यादें जुड़ी हुई हैं जो मेरे दिल के काफी करीब है। इसी शहर में उन्होंने अपना पहला आइटीएफ टूर्नामेंट और डेविस कप जीता है। शहर के कई परिवारों के साथ उनके परिवारिक रिश्ते हैं। 

फीफा विश्व कप की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern