नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। टोक्यो ओलिंपिक खेलों पर कोरोना वायरस के काले बादलों का साया तो मंडरा ही रहा है, वहीं दूसरी तरफ खिलाड़ियों का जापन की गर्मी से भी काफी बुरा हाल है। रूसी ओलिंपिक समिति (आरओसी) की तरफ से खेलने वाले टेनिस खिलाड़ी डेनिल मेदवेदेव बुधवार को अपने मैच के दौरान करीब 37 डिग्री तामपान में जूझते हुए क्वार्टर फाइनल में पहुंचे। मैच के दौरान उन्होंने कहा कि इतनी गर्मी में तो मैं मर भी सकता हूं।

रैकेट के सहारे आराम करते दिखे मेदवेदेव

टेनिस की पुरुष सिंगल्स स्पर्धा में मेदवेदेव का सामना इटली के फाबियो फोगनिनी के साथ था। दिन में खेले जाने वाले इस मैच में मेदवेदेव कई बार मैदान में गिरते-पड़ते और टेनिस रैकेट के सहारे आराम करते दिखे। उन्होंने अपने मैच के दौरान दो मेडिकल टाइम आउट लिए और एक बार उनके ट्रेनर को कोर्ट पर आना पड़ा। हालांकि, ओलिंपिक में दूसरी वरीयता प्राप्त मेदवेदेव ने गर्मी के आगे मैदान नहीं छोड़ा और फोगनिनी को 6-2, 3-6, 6-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में किसी तरह से जगह बनाई।

37 डिग्री था तापमान

सुबह बारिश के विलंब के बाद तापमान 31 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, लेकिन गर्मी के इंडेक्स के अनुसार 37 डिग्री सेल्सियस जितनी गर्मी महसूस हो रही थी। मेदवेदेव और फोगनिनी को दूसरे और तीसरे सेट के बीच में 10 मिनट के लिए कोर्ट छोड़ने की इजाजत दी गई थी। बेहद तेज गर्मी का नियम लागू करके ऐसा किया गया। मेदवेदेव पदक दौर में जगह बनाने के लिए स्पेन के छठी वरीय पाब्लो कारेनो बुस्ता से भिड़ंगे, जिन्होंने जर्मनी के डोमिनिक कोएफर को 7-6, 6-3 से हराया।

ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर आयोजकों ने मेदवेदेव और शीर्ष वरीय नोवाक जोकोविक जैसे खिलाड़ियों के सभी टेनिस मैच शाम को कराने के आग्रह को क्यों नहीं माना।

पत्रकार के आरओसी टीम को धोखेबाज बताने पर भड़के मेदवेदेव

डेनिल मेदवेदेव ने पत्रकार के सवाल पर आपत्ति जताई, जिसमें उसने पूछा कि क्या रूसी खिलाड़ी इन खेलों में धोखेबाजी का कलंक लेकर आए हैं। मेदवेदेव ने कहा कि अपनी जिंदगी में मैं इस सवाल का जवाब नहीं दूंगा और आपको खुद भी शर्मिदगी महसूस होनी चाहिए। मुझे लगता है कि आपको इसे (संबंधित सवाल पूछने वाले पत्रकार को) ओलंपिक खेलों या टेनिस टूर्नामेंट से बाहर (प्रतिबंधित) कर देना चाहिए।'

मेदवेदेव की अपील पर मैचों का बदला समय

टोक्यो की भयानक गर्मी में डेनिल मेदवेदेव को जूझते हुए देखने के बाद अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आइटीएफ) ने अब आगामी मैचों का समय बदल दिया है। इससे खिलाड़ियों को काफी राहत मिलेगी। आइटीएफ ने कहा कि मैच स्थानीय समयानुसार गुरुवार से सुबह 11 बजे के बजाय दोपहर तीन बजे से शुरू होंगे।

जोकोविक भी क्वार्टर फाइनल में

टोक्यो में शाम के समय खेलते हुए विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविक ने आसानी से क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। उन्होंने आइटीएफ के मैच बदलने के फैसले का स्वागत किया और कहा कि इससे सभी को काफी राहत मिली है। जोकोविक ने अपने मैच में स्पेन के एलेजांद्रो डेविडोविक फोकिना को आसानी से सीधे सेटों में 6-3, 6-1 से हराया। इसके अलावा पहली बार मिक्स्ड डबल्स में नीना स्टोजानोविक के साथ खेलते हुए भी उन्होंने ब्राजीलियाई जोड़ी मार्सेलो मेलो और लुइसा स्टेफनी को 6-3, 6-4 से हराया।

Edited By: Vikash Gaur