मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, टेक डेस्क। TRAI ने इस साल की शुरुआत में, DTH और केबल टीवी इंडस्ट्री के लिए नए नियम निर्धारित किए थे। इन नए नियमों को लाने के पीछे पूरे सिस्टम को पारदर्शी बनाना और टीवी बिल्स को किफायती करना था। हालांकि, यह बदलाव यूजर्स के लिए एक बोझ साबित हुआ। ना केवल नए नियमों को अपनाने में यूजर्स को काफी मुश्किलें हुई, बल्कि कुल-मिलाकर कीमतों के मामले में भी यूजर्स को कोई राहत नहीं मिली। इससे TRAI को यूजर्स से काफी नकारात्मक प्रतिक्रिया मिली। शायद इसी का परिणाम है की TRAI इसमें बहुत जल्द कुछ बदलाव करना चाहती है।

अगर ET की लेटेस्ट रिपोर्ट पर यकीन किया जाए तो TRAI आने वाले समय में ब्रॉडकास्टर्स और ऑपरेटर्स के साथ टीवी बिल्स कम करने के लिए काम कर सकती है। अथॉरिटी एक कंसल्टेशन पेपर पर काम करने वाली है, इसमें यह देखा जाएगा की किस तरह केबल और DTH, दोनों सब्सक्राइबर्स के लिए बिल को कम किया जा सकता है। TRAI के अनुसार- एक कंसल्टेशन पेपर पर ब्रॉडकास्ट टैरिफ को घटाने के लिए काम किया जा रहा है। इसमें यह देखा जाएगा की किन तरीकों से कीमतों को घटाया जा सकता है।

हाल ही में लॉन्च हुए Oppo F11 को अमेजन से खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।

Samsung के इस साल लॉन्च हुए फ्लैगशिप स्मार्टफोन Samsung Galaxy S10 को अमेजन से खरीदने के लिए यहां क्लिक करें

नए DTH और टीवी नियम 1 फरवरी 2019 से लागू हो चुके हैं। नए नियमों के अनुसार, उपभोक्ताओं को अब उन्ही चैनल्स के लिए पैसे भरने होंगे जिन्हें वो देखना चाहते हैं। अब सब्सक्राइबर्स को कम से कम Rs 150 के करीब बिल भरना होता है, जिसमें Rs 130 की नेटवर्क कैपेसिटी फीस के साथ 18 प्रतिशत टैक्स सम्मिलित है। इसके अलावा, सब्सक्राइबर्स को 25 चैनल्स के एक स्लॉट के लिए Rs 25 अदा करने होंगे। इसमें 18 प्रतिशत का GST भी लागू होगा। TRAI अब ब्रॉडकास्टर्स और ऑपरेटर्स के साथ मिलकर कोई ऐसा तरीका निकलने के प्रयास में है जिससे मासिक बिल्स में कटौती की जा सके।

यह भी पढ़ें:

Samsung Galaxy A70 को मिला नया अपडेट, मिलेंगे ये नए फीचर्स

Lok Sabha Election Results 2019: जागरण ऐप, eci.gov.in पर देखें सबसे सटीक नतीजे

बिना स्क्रीनशॉट लिए इस तरह सेव करें किसी का भी Whatsapp Status

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sakshi Pandya

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप