नई दिल्ली(टेक डेस्क)। आईफोन 10 उन स्मार्टफोन्स में से है जिसमें कई एडवांस टेक्नोलॉजीज देखने को मिली है। फिर बात चाहे वायरलैस चार्जिंग की हो, ओलेड डिस्प्ले, ड्यूल कैमरा या फेस रिकग्निशन अनलॉक सिस्टम की। इसी के साथ आईओएस एंड्रॉयड से और एंड्रॉयड आईओएस से सालों से एक-दूसरे के फीचर्स कॉपी करता आया है।

आईफोन ने क्या लिया एंड्रॉयड से

जहां आईफोन ने धीरे-धीरे एंड्रॉयड फोन के पॉपुलर एलिमेंट्स जैसे की वायरलैस चार्जिंग और एज-टू-एज डिस्प्ले को अपनाया। वहीं, गूगल ने एप्पल के एप स्टोर और उसकी क्विक सेटिंग मेन्यू से सीखा। लेकिन गूगल ने अपने अगले मोबाईल ऑपरेटिंग सिस्टम में आईफोन 10 के सबसे काम पसंद या नापसंद किए गए फीचर को अपनाया है। यह फीचर है- डिस्प्ले के ऊपर नॉच।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गूगल अपने एंड्रॉयड प्लेटफार्म पर कार्य कर रहा है जिसमें आईफोन 10 का डिस्प्ले के ऊपर सिग्नेचर नॉच सम्मिलित होगा। कई आईफोन यूजर्स और रिव्यूवर्स के द्वारा इस फीचर को पसंद नहीं किया गया है। इसके बाद गूगल आखिर क्यों ऐसे फीचर को अपने अगले वर्जन में लाना चाह रहा है?

गूगल इसे अपने अगले वर्जन में इसलिए लेकर आएगा क्योंकि डिजाइन के मामले में यह एक पॉपुलर एलिमेंट है। हालांकि, यूजर द्वारा इसे पसंद नहीं किया जाता। लेकिन इस नॉच से फोन में बड़ा फीचर कार्य करता है। आपको बता दें, नॉच के पीछे एक इंफ्रारेड सेंसर और एमिटर होता है। इसे एप्पल यूजर का चेहरा स्कैन करने के लिए इस्तेमाल करती है। इसे फोन के फ्रंट कैमरा के साथ पेयर किया जाता है। इससे इंफ्रारेड इमेज कैप्चर करने के साथ-साथ 2D और 3D पिक्चर्स भी ली जा सकती हैं। इस टेक्नोलॉजी के कारण ही एप्पल यूनिक फेशियल डाइमेंशन के साथ सटीक पिक्चर ले पता है। इस तरह ही इसे बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन, ऑगमेंटेड रियलिटी और एनिमोजी जैसी एप्स के लिए फन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। यही कारण है की गूगल अपने अगले वर्जन में एप्पल के इस फीचर को अपनाने वाला है।

यह भी पढ़ें:

इस एक तरीके से बदल जाएगी आपके फोन की सारी सेटिंग्स

बैटरी की खपत से परेशान यूजर अपनाएं ये तरीका, घंटों बढ़ा सकते हैं बैटरी बैकअप

अपने स्मार्टफोन के वीडियो कॉल से लेकर टेस्ट मैसेज तक को इस तरह करें रिकॉर्ड

Posted By: Sakshi Pandya