नई दिल्ली, टेक डेस्क। मेटा के इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने शुक्रवार को कहा कि उसने नए आईटी नियम 2021 के अनुपालन केसाथ मई के महीने में भारत में 19 लाख से अधिक अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। बता दें कि मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने अप्रैल में भारत में 16.6 लाख से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगा दिया था। कंपनी को देश में मई में 528 शिकायत रिपोर्ट भी प्राप्त हुए, जिसमे से "कार्रवाई" वाले खाते 24 थे।

प्लेटफार्म ने फरवरी में देश में ऐसे 14 लाख से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगाया था। वाट्सऐप के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि आइटी नियम 2021 के अनुसार, हमने मई महीने के लिए अपनी रिपोर्ट जारी की है। इस यूजर-सिक्योरिटी रिपोर्ट में यूजर की शिकायतों का विवरण और वाट्सऐप द्वारा की गई संबंधित कार्रवाई के साथ-साथ वाट्सएप की खुद की कार्रवाइयां भी शामिल हैं।' प्रवक्ता ने कहा कि वाट्सएप ने मई महीने में 19 लाख से अधिक खातों पर प्रतिबंध लगा दिया। कंपनी ने बताया कि शेयर किए गए डाटा में अकाउंट के दुरुपयोग का पता लगाने के दृष्टिकोण का उपयोग कर वाट्सऐप द्वारा प्रतिबंधित भारतीय अकाउंट की संख्या पर प्रकाश डाला है।

अप्रैल में, व्हाट्सएप को देश के भीतर 844 शिकायतें मिलीं, और "कार्रवाई" वाले खाते 123 थे। कंपनी का कहना है कि हमारे यूजर्स को हमारे प्लेटफॉर्म पर सुरक्षित रखने के लिए सालों से हमने लगातार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य अत्याधुनिक तकनीक, डेटा वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों और प्रक्रियाओं में निवेश किया है। बता दें नए आइटी नियम 2021 के तहत 50 लाख से अधिक यूजर्स वाले बड़े डिजिटल और इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म को मासिक अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करनी होगी।

Edited By: Ankita Pandey