नई दिल्ली (जेएनएन)। एक नए अध्ययन में पाया गया है कि वियरेबल डिवाइस, जो दिल की धड़कन जैसा कंपन करती है, उसे कलाई में पहनने से तनाव को दूर करने में मदद मिलती है। इंसान स्वाभाविक रूप से रिदम (ताल) पर प्रतिक्रिया देते हैं। उदाहरण के लिए एक गीत की गति स्वाभाविक रूप से हमारे श्वांस और हृदय की दर को बदल सकती है। शोधकर्ताओं ने कहा कि गाने की धुन धीमी होने पर व्यक्ति कम उत्साही, सकारात्मक या शांत भावनात्मक स्थिति में होता है। जबकि संगीत के तेज होने पर भावनात्मक स्थिति आनन्द, उत्तेजना, आश्चर्य, डर या क्रोध जैसी होती है।

यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के शोधकर्ताओं ने डॉपेल नामक डिवाइस के शांत प्रभावों का मूल्यांकन किया। यह एक रिस्टबैंड (कलाई पर पहना जाने वाला बैंड) है। इसे तनाव को सक्रिय रूप से कम करने के लिए डिजाइन किया गया था। इसके लिए इसमें विशेष रूप से दिल की धड़कन की ताल रखी गई थी। कई अध्ययनों में पता चला है कि संगीत से परे बायोलॉजिकल रिदम का अधिक सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। उन्होंने पाया कि दिल की धड़कन प्रकृति में संभवतः सर्वव्यापी बायोलॉजिकल रिदम है। यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के मनोस सकिरीस ने कहा कि उच्च उत्तेजना हृदय की दर में वृद्धि के साथ जुड़ी हुई है, जबकि शांति कम हृदय गति से शारीरिक रूप से जुड़ी हुई है।

डोपेल की प्रभाविता की जांच करने के लिए शोधकर्ताओं ने स्वयंसेवकों की सामाजिक रूप से तनावपूर्ण स्थिति का पता किया और उनकी शारीरिक उत्तेजना व उनके तनाव के स्तर को मापा। प्रतिभागियों के दो समूहों को एक सार्वजनिक भाषण तैयार करने के लिए कहा गया। यह एक व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला मनोवैज्ञानिक कार्य है, जो लगातार तनाव बढ़ता है। सभी प्रतिभागियों ने अपनी कलाई पर डिवाइस पहनी थी। इसके नतीजे चौंकाने वाले रहे।

यह भी पढ़ें:

वनप्लस 5 के लिए 5 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन, 22 तारीख को होगा लॉन्च

सैमसंग के इन प्रीमियम स्मार्टफोन्स पर हुई 10000 रुपये की कटौती, आप भी उठा सकते हैं लाभ

सिर्फ एक मिस कॉल से 250 रुपये तक रिचार्ज हो जाएगा मोबाइल, जानिए

Edited By: Shilpa Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट