नई दिल्ली (टेक डेस्क)। Vivo भारत में अपने स्मार्टफोन के मैन्युफैक्चरिंग के लिए ग्रेटर नोएडा में 200 करोड़ रुपये का निवेश करेगा। इस निवेश का मुख्य लक्ष्य इस प्लांट से 20 लाख यूनिट्स का प्रोडक्शन करना है। आपको बता दें, वीवो पहले ही 300 करोड़ रुपये का निवेश इस प्लांट के लिए कर चुका है। वीवो इस निवेश के बाद अपने लोकल मैन्युफैक्चरिंग कैपेसिटी को बढ़ाएगा। वीवो के ग्रेटर नोएडा स्थित प्लांट में SMT (सरफेस माउंट टेक्नोलॉजी) लाइन्स को भी हाल ही में जोड़ा गया है।

वीवो के एक बयान के मुताबिक, इस फैसिलिटी से हर महीने 20 लाख स्मार्टफोन्स को असेंबल किया जाएगा। नया SMT लाइन, वीवो के मेक इन इंडिया के लक्ष्य को बढ़ावा देगा। वीवो के जारी इस बयान के मुताबिक वीवो के फ्लैगशिप डिवाइस वीवो नेक्स, X21 आदि को यहीं मैन्युफैक्चर किए जाएंगे। वीवो के इस प्लांट में 5,000 कर्मचारी कार्यरत हैं, जो सालाना 2.5 करोड़ स्मार्टफोन का निर्माण करते हैं। इस प्लांट में स्मार्टफोन के असेंबलिंग के अलावा यहां वीवो का इन हाउस टेस्ट लैब भी है, जिसमें स्मार्टफोन के 1,000 से ज्यादा क्वालिटी और ड्यूरेबिलिटी टेस्ट किए जाते हैं।

वीवो ने मीडिया को दिए बयान में वीवो इंडिया के चीफ मार्केटिंगस ऑफिसर जेरम चेन ने कहा कि वीवो के हाल ही में लॉन्च हुए लेटेस्ट स्मार्टफोन वीवो नेक्स को यहीं बनाया गया है। हमारा मकसद इस प्लांट को हमारे स्मार्टफोन्स के लिए रीजनल मैन्युफैक्चरिंग हब बनाना है। वीवो X21 और वीवो नेक्स के अलावा वीवो के अन्य स्मार्टफोन्स को भी यहीं असेंबल किया जाएगा। हाल ही में जारी हुए IDC की रिपोर्ट के मुताबिक वीवो (12.6 फीसद मार्केट शेयर) भारतीय बाजार में स्मार्टफोन्स के शिपमेंट के मामले में शाओमी (29.7 फीसद मार्केट शेयर) और सैमसंग (23.9 फीसद मार्केट शेयर) के बाद तीसरे स्थान पर पहुंच गया है।

यह भी पढ़ें:

Jio GigaFiber की रजिस्ट्रेशन शुरू, जानें 10 बड़ी बातें

Vivo 20 अगस्त को लॉन्च कर सकता है, दुनिया का पहला 10GB रैम वाला स्मार्टफोन

Motorola P30 हुआ लॉन्च, जानें iPhone X की तरह दिखने वाले इस स्मार्टफोन में क्या है खास 

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस