नई दिल्ली (टेक डेस्क)। ग्रामीण क्षेत्रों में इंटरनेट की पहुंच बढ़ाने के लिए टेलिकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी ट्राई ने टेलिकॉम डिपार्टमेंट को सुझाव दिया है। ट्राई ने कहा है कि ग्रामीण इलाकों में रहने वालों के लिए कम से कम 100 एमबी डाटा फ्री दिए जाना चाहिए। ट्राई का मानना है कि इससे केंद्र सरकार के डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट को बढ़ावा मिलेगा।

ट्राई ने क्यों उठाया यह कदम?

रिलायंस जियो के टेलिकॉम सेक्टर में कदम रखने के बाद डाटा की कीमतें काफी कम हो गई हैं। ऐसे में ट्राई चाहता है कि ग्रामीण इलाकों के लोगों को इंटरनेट से जोड़ा जाए। पहले ज्यादा कीमत में डाटा मुहैया कराया जाता था लेकिन अब वही डाटा पैक्स कम कीमत में उपलब्ध हैं। आपको बता दें कि ट्राई ने यह योजना वर्ष 2016 में डाटा की कीमतों को देखकर बनाई थी। हालांकि, अब प्राइस वॉर ज्यादा बढ़ गई है जिससे डाटा की कीमतों में और गिरावट आई है।

फंड के लिए होगा USOF का इस्तेमाल:

ग्रामीण यूजर्स को डाटा मुहैया कराने के लिए ट्राई ने टेलिकॉम कंपनियों को यूनिवर्सल सर्विसेज ऑब्लिगेशन फंड यानी USOF का इस्तेमाल करने के लिए कहा है। आपको बता दें कि USOF टेलिकॉम कंपनियों द्वारा बनाया गया फंड है। इसमें सरकार के निर्देश पर सभी कंपनियां अपनी कमाई का 5 फीसद हिस्सा जमा करती हैं।

चीन और इंडोनेशिया से पीछे है भारत:

भारत की आबादी के आधार पर देखा जाए तो इंटरनेट इस्तेमाल करने के मामले में भारत चीन और इंडोनेशिया से काफी पीछे है। आपको बता दें कि भारत में करीब 49 फीसद आबादी तक इंटरनेट की पहुंच नहीं बन पाई है। वहीं, यह आंकड़ा अमेरिका में 19 फीसद, चीन में 23.6 फीसद और इंडोनेशिया में 24.7 फीसद है। ऐसे में ट्राई का यह कदम काफी मददगार साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ें:

क्या आप जानते हैं औसत भारतीय मोबाइल डाटा यूजर्स प्रति महीने कितने डाटा की करता है खपत

नोकिया भारत में 5G नेटवर्क मोबाइल लाने की तैयारी में, अन्य कंपनियां भी इस दौड़ में शामिल

आधार लिंक करने वाले इस मैसेज से रहें सावधान, पड़ सकते हैं मुश्किल में

 

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस