नई दिल्ली, टेक डेस्क। तमिलनाडु सरकार ने सट्टेबाजी से जुड़े ऑनलाइन गेमिंग पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार ने यह कदम लोगों द्वारा सट्टेबाजी से जुड़े गेम में पैसे गंवाने और आत्महत्या कर लिए जाने के बाद उठाया है। वहीं, सरकार का मानना है कि इस तरह के गेम पर बैन लगाने से समाज पर अच्छा प्रभाव पड़ेगा। 

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने हाल ही में कहा था कि सरकार राज्य में सट्टेबाजी से जुड़े गेम में पैसे गंवाने वाले लोगों की आत्महत्याओं और कई शिकायतों के बाद इस पर प्रतिबंध लगाने के लिए कदम उठा रही है। इसके बाद ही राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने शुक्रवार को अध्यादेश जारी किया था।

तमिलनाडु सरकार के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति सट्टेबाजी से जुड़े ऑनलाइन गेमिंग में दोषी पाया जाता है, तो उसपर 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा और उसे छह महीने के लिए जेल भी जाना पड़ सकता है। इसके अलावा सट्टेबाजी से जुड़े गेम का आयोजन करने वाले शख्स पर भी 10,000 रुपये का जुर्माना लगााया जाएगा। 

बता दें कि आंध्रप्रदेश सरकार ने पिछले महीने यानी अक्टूबर में ऑनलाइन गेमिंग, सट्टेबाजी और गैम्बलिंग पर प्रतिबंध लगा दिया था। साथ ही केंद्र को पत्र लिख राज्य में 132 वेबसाइट को ब्लॉक करने की मांग की थी। इनमें Paytm First, Rummy और EA.com जैसी वेबसाइट शामिल हैं। वहीं, सरकार का मानना है कि इन ऑनलाइन वेबसाइट और गेमिंग ऐप से समाज पर बुरा असर पड़ रहा है। 

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री वाय.एस जगनमोहन रेड्डी ने संचार, इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी और विधि एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद को पत्र लिखकर 132 ऑनलाइन गेमिंग वेबसाइट बैन करने की मांग की है। मुख्यमंत्री वाय.एस जगनमोहन रेड्डी ने इस पत्र में ऑनलाइन सट्टेबाजी पर चिंता जताई है। 

बैन की सूची में इन वेबसाइट का नाम है शामिल

जिन वेबसाइट को ब्लॉक करने की मांग की गई है, उनमें Mobile Premier League, Adda52, Rummy, Paytm First, FIFA और NHL का नाम हैं। इसके अलावा बैन की सूची में दुनिया की दिग्गज गेमिंग कंपनी EA.com का नाम भी शामिल है। हालांकि, इस लिस्ट में Dream11 का नाम नहीं जोड़ा गया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस