नई दिल्ली, टेक डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) आज यानी 2 अगस्त को डिजिटल पेमेंट सॉल्युशन e-RUPI लॉन्च करने वाले हैं। इस सॉल्युशन का मुख्य उद्देश्य है ऑनलाइन पेमेंट को आसान और सुरक्षित बनाना है। इस प्लेटफॉर्म को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के साथ मिलकर तैयार किया है।

e-RUPI

e-RUPI कैश और कॉन्टैक्ट लैस पेमेंट करने का एक जरिया है। यह क्यू-आर कोड और SMS स्ट्रिंग बेस्ड ई-वाउचर के रूप में काम करता है। लोग इस सेवा के तहत कार्ड, डिजिटल भुगतान ऐप या इंटरनेट बैंकिंग एक्सेस किए बिना पेमेंट कर सकेंगे।

यहां हो सकता है e-RUPI का इस्तेमाल

e-RUPI सेवा का मातृ एवं बाल कल्याण योजनाओं के तहत दवा और न्यूट्रीशनल सपोर्ट उपलब्ध कराने वाली स्कीम्स, टीबी उन्मूलन और आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा निजी क्षेत्र के कर्मचारी भी इस पेमेंट प्लेटफॉर्म का उपयोग कर सकेंगे।

Matsya Setu

बता दें कि भारत सरकार ने पिछले महीने Matsya Setu मोबाइल ऐप लॉन्च किया था। Matsya Setu ऐप की बात करें तो इसे ICAR और CIFA ने तैयार किया है और इसे NFDB की ओर से फंडिंग का सपोर्ट मिला है। इस मोबाइल ऐप में अलग-अलग प्रजाति के बारे में जानने के लिए ऑनलाइन सेल्फ-लर्निंग मॉड्यूल दिए गए हैं। साथ ही इस प्लेटफॉर्म पर विशेषज्ञ मछलियों के प्रजनन, बीज उत्पादन और ग्रो-आउट संवर्धन पर बुनियादी जानकारी मिलेगी।

इतना ही नहीं ऐप में मछली पालक किसानों को छोटे वीडियो के जरिए मिट्टी और पानी की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए बेहतर प्रबंधन, जलकृषि कार्यों में भोजन और स्वास्थ्य प्रबंधन का पालन करना सिखाया जाएगा। Matsya Setu मोबाइल ऐप में किसान को प्रत्येक पाठ्यक्रम मॉड्यूल को पूरा करने पर ई-प्रमाण पत्र दिया जाएगा। इसके अलावा किसान इस ऐप के माध्यम से विशेषज्ञों से सवाल पूछ सकते हैं।

Edited By: Ajay Verma