नई दिल्ली, हर्षित हर्ष। केन्द्रीय टेलिकॉम मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने शनिवार को IMC (Indian Mobile Congress) 2019 के कर्टेन रेजर में 5G इकोसिस्टम के बारे में बोलते हुए कहा कि हमारा लक्ष्य 5G टेक्नोलॉजी में भारतीय पेटेंट क्रिएट करना है। आपको बता दें कि इस साल IMC 2019 14 से 16 अक्टूबर के बीच आयोजित किया जाएगा। यह IMC का तीसरा संस्करण होगा। पिछले साल की तरह ही इस साल भी इसमें 5G टेक्नोलॉजी, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, मशीन लर्निंग जैसे फ्यूचर टेक्नोलॉजी पर फोकस रहेगा।

रविशंकर प्रसाद ने कहा, मेरा विजन सिर्फ 5G रोल आउट करने तक ही सीमित नहीं है बल्कि 5G टेक्नोलॉजी में भारतीय पेटेंट को विकसित करना है। इस साल 14 से 16 अक्टूबर को आयोजित होने वाले Indian Mobile Congress (IMC) 2019 के लिए उन्होंने टेलिकॉम इंटस्ट्रीज और टेक्नोलॉजी से जुड़े ब्रांड्स, इनोवेटर्स, एकेडमिया और पॉलिसी मेकर्स को इन्वाइट करते हुए कहा कि, हमें आशा है कि सभी लोगों के प्रयास की वजह से ही डिजिटल इंडिया के इस इवेंट को सफलता मिलेगी।

Indian Mobile Congress का आयोजन डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम (DoT) और COAI (Cellular Operators Association of India) की मदद से किया जाएगा। इसमें 40 से ज्यादा प्राटिसिपेटिंग देश, 300 से ज्यादा एक्जीबिटर्स और 250 से भी ज्यादा स्पीकर्स भाग लेंगे। रविशंकर प्रसाद ने इसके कर्टेन रेजर इवेंट में भारत में स्मार्टफोन यूजर्स का आंकड़ा बताते हुए कहा कि इस समय देश में 65 से 70 करोड़ स्मार्टफोन यूजर्स हैं। वहीं, मोबाइल यूजर्स की संख्यां 1.2 अरब यानी की 120 करोड़ है। इस लिहाज से भारत टेलिकॉम सेक्टर और मोबाइल के क्षेत्र में दुनिया का सबसे बड़ा बाजार बनकर उभर रहा है।

केन्द्रीय मंत्री ने भारत में टेक्नोलॉजी की पहुंच के बारे में बोलते हुए कहा कि मुझे याद है कि जब मैं लोकसभा चुनाव के प्रचार में बिहार के दियारा (नदी के किनारे वाला सुदूर क्षेत्र) वाली जगह चुनाव प्रचार के लिए गया तो वहां के दो युवा ने मेरी तस्वीर क्लिक करके फेसबुक पर अपलोड करने की बात कही। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत में टेक्नोलॉजी कितना आगे बढ़ गया है। टेलिकॉम मिनिस्टर ने COAI के डायरेक्टर जनरल राजन मैथ्यूज और टेलिकॉम ऑपरेटर्स के CEO’s से अपील की, अभी भारत के जिन गावों तक मोबाइल नेटवर्क नहीं पहुंचा है वहां पर एक साल के अंदर तक मोबाइल नेटवर्क पहुंच जाना चाहिए।

IMC 2019 के कर्टेन रेजर इवेंट में DoT की मौजूदा चेयरपर्सन अरुणा सुंदराजन ने भी इवेंट में मौजूद ब्रांड्स के रिप्रजेन्टेटिव्स, टेलिकॉम कंपनियों के सीईओ समेत सभी को इंडियन मोबाइल कांग्रेस 2019 को सफल बनाने के लिए आग्रह किया और सभी को 14 से 16 अक्टूबर को आयोजित होने वाले इस इवेंट के लिए इन्वाइट भी किया। उन्होंने कहा कि यह भारत का ही नहीं एशिया सबसे बड़ा टेक्नोलॉजी एक्जीबिशन है। सुंदराजन ने इसे डिजिटल टेक्नोलॉजी का इंटरनेशनल कांफ्रेंस भी बताया।  

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस