नई दिल्ली, टेक डेस्क। Apple कंपनी नई नई तकनीक से अपने ऐपल के उपकरणों (devices) को बेहतर बनाने में लगी रहती है। अब मीडिया रिपोर्ट से पता चला कि ऐपल ने एक पेटेंट हासिल किया है जो बताता है कि iPhone को अब बारिश में भी उपयोग किया जा सकेगा।

पुराने आईफोन छोड़, हाल के सभी iPhone मॉडल में वाटर रेसिस्टेंट का फीचर है, लेकिन बारिश में iPhone का उपयोग करना इतना आसान नहीं है।

डिस्प्ले पर पानी की बूंदें गिरते ही यूजर के लिए स्क्रीन पर टाइप करना बेहद मुश्किल हो जाता है। मीडिया रिपोर्ट से ऐसा लगता है कि ऐपल Wet Mode जैसी सुविधा को लाकर इन मुद्दों को हल करने की योजना बना रही है।

यूनाइटेड स्टेट्स पेटेंट एंड ट्रेडमार्क ऑफिस (यूएसपीटीओ) द्वारा स्वीकृत, पेटेंट से पता चलता है कि ऐपल आईफोन को एक नमी जोखिम घटना (moisture exposure event) के दौरान काम करने की क्षमता के साथ संशोधित करने की योजना बना रहा है। उदाहरण के तौर पर बारिश। यह पानी का पता लगाने के लिए इनबिल्ट प्रेशर और नमी सेंसर का उपयोग करेगा और उसके अनुसार सॉफ्टवेयर को समायोजित (adjust) करेगा।

आकस्मिक स्पर्श इनपुट (accidental touch inputs) प्राप्त करने की संभावना को कम करने के लिए सॉफ़्टवेयर थोड़ी बारिश के मामले में ऑन-स्क्रीन बटन बदल सकता है। ऐपल आईफोन को अपने डिस्प्ले की दबाव संवेदनशीलता (pressure sensitivity) को समायोजित (adjust) करने और केवल स्पर्श इनपुट (touch inputs) रजिस्टर करने में सक्षम कर सकता है, जहां एक निश्चित मात्रा में बल लगाया जाता है। इससे झूठे इनपुट से बचने में मदद मिलेगी जो बारिश की बूंदों से दर्ज किए जा सकते हैं।

पेटेंट फाइलिंग का वर्णन है कि 'इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में एक नमी डिटेक्टर (moisture detector) शामिल हो सकता है, जो प्रोटेक्टिव कवर पर मौजूद नमी की मात्रा का पता लगाने में सक्षम होता है।

दस्तावेज़ यह भी बताता है कि स्पर्श प्रतिक्रियाओं (touch responses) को कॉन्फ़िगर करने के लिए अलग-अलग तरीके हो सकते हैं, जिन्हें गीला, सूखा और अंडरवाटर कहा जाता है।

गीले और सूखे मोड के मामले में, iPhone टच इनपुट को स्वीकार करने के लिए फ़ोर्स इनपुट डिटेक्शन को बदल सकता है। यह इस पर निर्भर करता है कि यूजर की उंगली सूखी या गीली है। पेटेंट विवरण के अनुसार अंडरवाटर मोड iPhone को इंटरफ़ेस को संशोधित करने और पानी के भीतर उपयोग करने के लिए इसे सरल बनाने में सक्षम कर सकता है।

पेटेंट फाइलिंग द्वारा सुझाया गया है कि iPhone पूरी तरह पानी के में डूबा हो तब अंडरवाटर मोड का उपयोग अनिवार्य रूप से फ़ोटो कैप्चर करने और वीडियो रिकॉर्ड करने के लिए किया जा सकता है । यह व्हाइट बैलेंस सेटिंग्स, आईएसओ संवेदनशीलता, और कैमरा यूनिट की स्पष्टता के साथ-साथ इसकी डिस्प्ले ब्राइटनेस सहित बारीकियों को भी एडजस्ट कर सकता है।

Apple ने अब तक अपने iPhone मॉडल को अंडरवाटर फोटोग्राफी के लिए आधिकारिक तौर पर मार्केटिंग नहीं की है। तरल क्षति (Liquid damage) को भी अभी तक वारंटी के तहत कवर नहीं किया गया है। यदि ऐपल को इसमें सफलता हासिल हो गई तो इन सभी मोर्चों पर कुछ बदलाव भी हो सकते हैं।  

हालाँकि ये सब कुछ मीडिया रिपोर्ट द्वारा ही सामने आया है,अभी तक ऐपल ने इस पर कोई ऐलान नहीं किया है।  

Edited By: Kritarth Sardana