नई दिल्ली, टेक डेस्क। NewsMobile ने अपने तकनीकी साझेदार FakeNetAI के साथ मिलकर ग्लोबल इनोवेशन चुनौती जीती है, जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर गहराई से फेक तकनीक के उपयोग का पता लगाता है। इस ग्लोबल इनोवेशन चैलेंज में जीते गए पांच विजेताओं में केवल NewsMobile एक ऐसा संगठन है जो कि एशिया से है। इस इनोवेशन चैलेंज में मुख्य तौर पर इस बात पर फोकस किया गया कि फैक्ट चेकिंग तकनीक को कैसे बेहतर किया जा सकता है।  

यह पहल Poynter इंस्टीट्यूट में फेसबुक जर्नलिज्म प्रोजेक्ट और इंटरनेशनल फैक्ट-चेकिंग नेटवर्क (IFCN) की एक संयुक्त परियोजना है और इसका उद्देश्य इनोवेशन प्रोजेक्ट्स, नए फॉर्मेट और तकनीकों का समर्थन करना है जो कि ग्लोबल फैक्ट चेकिंग इकोसिस्टम में मदद करेंगे। Poynter की वेबसाइट पर दी गई स्टेटमेंट में बताया गया है कि 'विजेताओं को 64 प्रस्तावों की सूची में से चुना गया था और यह कुल 450,000 डॉलर का बंटवारा करेगा, जिसे इंटरनेशनल फैक्ट-चेकिंग नेटवर्क और फेसबुक के बीच साझेदारी द्वारा संभव बनाया गया है।'

वहीं NewsMobile के संस्थापक और प्रधान संपादक सौरभ शुक्ला ने कहा 'NewsMobile और Fakenet AI के बीच संयुक्त परियोजना को 99,000 डॉलर के अनुदान से सम्मानित किया गया है। वे 64 प्रस्तावों की सूची में से चुने गए पांच विजेताओं में से हैं। global collaborative project गलत सूचनाओं की सबसे बड़ी चुनौती को करने में NewsMobile और Fakenet AI की मदद करेगी। हम IFCN, Facebook और Fakenet AI के साथ काम करने को लेकर काफी उत्साहित हैं। हमारी पार्टनशिप जीत, प्रौद्योगिकी और नवाचार में भारत-अमेरिका सहयोग को मजबूत करती है। NewsMobile में, हमने इनोवेशन पर फोकस किया है और यह स्वतंत्र फेक्ट चेकर और टेक आधारित मोबाइल ​कंटेंट प्लेटफॉर्म के रूप में हमारी यात्रा में मील का पत्थर है।' 

FakeNet AI के सीईओ Raymond Lee ने कहा 'FakeNetAI फेसबुक, IFCN और NewsMobile के साथ साझेदारी कर रही है, ताकि हमारी तकनीक को फेक्ट चेकिंग प्रोसेस में उपयोग किया जा सके, फेक्ट चेकर्स को गहरे फेक का पता लगाने और उन्हें नुकसान पहुंचाने से रोकने में सक्षम बनाया जाए।'

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस